Lockdown in UP: यातायात नियम तोड़ने पर 1 करोड़ से ज्यादा जुर्माने की वसूली, 3679 वाहन सीज
Lucknow News in Hindi

Lockdown in UP: यातायात नियम तोड़ने पर 1 करोड़ से ज्यादा जुर्माने की वसूली, 3679 वाहन सीज
पूरे यूपी में लॉकडाउन के दौरान वाहनों की चेकिंग (फाइल फोटो)

कोरोना के खतरे को देखते हुए उत्तर प्रदेश में पूरी तरह लॉकडाउन लागू है. इस दौरान प्रदेश सरकार लगातार सख्ती बनाए हुए है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
लखनऊ. कोरोना के खतरे को देखते हुए उत्तर प्रदेश में पूरी तरह लॉकडाउन लागू है. इस दौरान प्रदेश सरकार लगातार सख्ती बनाए हुए है. प्रशासनिक अधिकारी यातायात नियमों को तोड़ने के आरोप में लगातार जुर्माना वसूल रहे हैं. अधिकारियों के अनुसार, प्रदेश में 2 लाख से ज्यादा वाहनों की चेकिंग हुई है. इस दौरान यातायात नियमों को तोड़ने वाले 49074 वाहनों का चालान किया गया. जबकि 3679 वाहन सीज़ किए गए. अधिकारियों के अनुसार, वाहन चालकों से 1करोड़ 1 लाख 47 हज़ार 7 सौ रुपये का जुर्माना वसूला जा चुका है. वहीं, लॉकडाउन तोड़ने पर पूरे यूपी में 2089 एफआईआर दर्ज की गई है.

यूपी के एडीजी (एलओ) पीवी रामाशास्त्री के मुताबिक, पूरे यूपी में वाहनों की चेकिंग के लिए 6044 बैरियर लगाए गए हैं. बता दें, लॉक डाउन के पहले दिन सोमवार को 228 एफआईआर दर्ज हुई थीं और 22 लाख रुपये का जुर्माना वसूला गया था.

यूपी में कोरोना आपदा घोषित
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कोरोना वायरस को आपदा घोषित कर दिया है. यूपी सरकार ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है. जारी अधिसूचना में कहा गया है कि भारत सरकार के आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धारा-2 की उप धारा (डी) और उत्तर प्रदेश आपदा प्रबंध अधिनियम-2005 की धारा-2 की उप धारा (जी) में किए गए प्रावधान के क्रम में कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण फैल रही महामारी को आपदा घोषित किए जाने की राज्यपाल ने स्वीकृति दे दी है.



आपात सामग्री खरीदने की है छूट


इस अधिसूचना के मुताबिक इस अवधि में आपात सामग्री की खरीद के लिए छूट दी जा रही है, लेकिन यह सिर्फ एक महीने के लिए मिलेगी. दरअसल, यह छूट उन्हीं वस्तुओं की खरीद के लिए सरकार ने दी है, जो चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग के नॉर्म्स में कोरोना वायरस के उपचार और रोकथाम के लिए जरूरी हैं. आवश्यकता पड़ने पर अनुमोदन के बाद इस अवधि को आगे भी बढ़ाया जा सकता है. इसके साथ ही डीएम और अन्य विभाग को अगर स्थानीय स्तर पर इन मेडिकल उपकरणों या अन्य सामग्री की खरीद करनी हो, तो इसके लिए स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग की गाइडलाइंस मानने होंगे.


पूरे प्रदेश में लॉकडाउन
आपको बता दें कि इससे पहले मंगलवार को दिन में यूपी सरकार ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए प्रदेशभर में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था. सोमवार को जहां यूपी के सिर्फ 17 जिलों में लॉकडाउन की घोषणा की गई थी, वहीं एक दिन बाद इसे पूरे प्रदेश में लागू कर दिया गया.

(इनपुट: भाषा से भी)

ये भी पढ़ें:

UP में नहीं होगी मास्क, सेनेटाइजर सहित आवश्यक वस्तुओं की कमी, ये है वजह

UP में गुटखा, पान मसाला किया गया बैन, सीएम योगी के निर्देश पर सरकार का फैसला

 

 
First published: March 25, 2020, 10:59 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading