होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Lucknow: इस दशहरा महंगाई डायन खा गई रावण की लंबाई, मांग घटने से कारीगरों में छाई उदासी

Lucknow: इस दशहरा महंगाई डायन खा गई रावण की लंबाई, मांग घटने से कारीगरों में छाई उदासी

पुराने लखनऊ स्थित बांसमंडी बाजार में बीते कई वर्षों से रावण के पुतले बनते आ रहे हैं. हर साल दशहरा से चार महीने पहले यहा ...अधिक पढ़ें

    अंजलि सिंह राजपूत

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रावण का पुतला बनाने वाले कारीगरों पर महंगाई की मार पड़ी है. इसको लेकर उनमें उदासी है. कारीगरों का कहना है कि महंगाई के कारण रावण की बिक्री कम हो गई है. पुराने लखनऊ स्थित बांसमंडी बाजार में बीते कई वर्षों से रावण के पुतले बनते आ रहे हैं. हर साल दशहरा से चार महीने पहले यहां रावण बनाने के बड़ी संख्या में ऑर्डर मिलने लग जाते थे. खास बात है कि सभी आर्डर 10 फीट से लंबे रावण का पुतला बनाने के लिए मिलते थे, लेकिन इस वर्ष ऐसे पुतले बनाने के सबसे कम ऑर्डर मिले हैं. इस बार कारीगरों से कम लंबाई के रावण बनाने के लिए कहा गया है.

    इस बार सभी कारीगरों को मिलाकर मात्र 20 से 25 रावण बनाने के ऑर्डर मिले हैं, जिससे उनमें मायूसी है. इसके पीछे महंगाई डायन सबसे बड़ी वजह है. वहीं, कुछ कारीगरों का कहना है कि पर्यावरण प्रदूषित होने की वजह बताकर लोग रावण कम जला रहे हैं. और तो और, रामलीला समिति के द्वारा जहां रिकॉर्ड 121 फीट का रावण जलाया जाता था वहां इस बार 60 फीट ऊंचा रावण ही जलाया जाएगा.

    आपके शहर से (लखनऊ)

    बांस मंडी बाजार के कारीगर अतीक का कहना है कि कई वर्षों से वो रावण बना रहे हैं. हर साल 10 फीट से ऊंचा रावण का पुतला बनने का ऑर्डर लखनऊ के अलग-अलग हिस्सों से मिलते थे. दशहरा के लिए लगभग 25 से ज्यादा रावण वो अकेले बेचते थे. वहीं, आसपास की दुकान वाले भी 15 से ज्यादा रावण बेच लेते थे, लेकिन इस बार मार्केट में सन्नाटा पसरा है. इन कारीगरों को आठ से भी कम ऑर्डर मिले हैं. उनसे आठ से नौ फीट ही लंबाई रखने के लिए कहा गया है. पॉलिटेक्निक चौराहे के कारीगर कमरुद्दीन और सलीम अहमद भी ऐसा ही मानते हैं.

    अगले साल बड़े रावण को जलाने की तैयारी
    श्रीराम लीला समिति ऐशबाग के सचिव आदित्य द्विवेदी से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष बांस का 121 फीट का रावण जलाया गया था, लेकिन इस बार प्लाईबोर्ड का रावण जलाया जा रहा है. इस वजह से उसकी लंबाई कम रखी गई है. अगले वर्ष फिर से बांस की लकड़ी का भव्य और सबसे बड़ा रावण बना कर उसका दहन किया जाएगा.

    Tags: Dussehra Festival, Lucknow news, Ravana Dahan, Ravana effigy, Up news in hindi

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें