मतगणना के दिन बवाल की आशंका, EC ने जारी किया हाई अलर्ट

अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी का कहना है कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू की ओर से सभी जिलों के प्रशासनिक अमले को हाई अलर्ट पर रहने को कहा गया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 22, 2019, 10:08 AM IST
मतगणना के दिन बवाल की आशंका, EC ने जारी किया हाई अलर्ट
फाइल फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 22, 2019, 10:08 AM IST
23 मई को मतगणना शुरू होगा. ऐसे में उत्तर प्रदेश में ईवीएम के मुद्दे पर टकराव की आशंका जताई गई है. इसके चलते मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी जिलों को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है. साथ ही मुख्य निर्वाचन अधिकारी के आदेश के बाद मतगणना के दौरान बवाल की आशंका से पुलिस विभाग खासा सतर्क हो गया है. कहा जा रहा है कि मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा आज इस सम्बंध में वीडियो कांफ्रेंसिंग कर सुरक्षा प्रबंधों की समीक्षा कर निर्देश देंगे.

अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी का कहना है कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू की ओर से सभी जिलों के प्रशासनिक अमले को हाई अलर्ट पर रहने को कहा गया है. उन्होंने बताया कि सभी जिलों में ईवीएम को स्ट्रांग रूम में सुरक्षित रखा गया है. स्ट्रांग रूम के बाहर त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरा की व्यवस्था की गई है, जिसमें केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल, पीएसी व पुलिस के जवान शामिल हैं.



साथ ही स्ट्रांग रूम के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिससे 24 घंटे की रिकार्डिंग कराई जा रही है. इन कैमरों में हर पल की गतिविधि कैद हो रही है. वहीं, डीजीपी मुख्यालय से भी मतगणना के प्रबंधों पर नजर रखी जा रही है. सभी जिलों को आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुसार सुरक्षा प्रबंध करने का निर्देश दिया गया है. पुलिस विभाग की कोशिश है कि मतगणना भी शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हो जाए.

डीजीपी ओपी सिंह ने शांतिपूर्ण चुनाव सम्पन्न कराने के लिए सोमवार को ही पुलिस एवं सुरक्षा बल के जवानों को शाबाशी दी थी. इस कारण पुलिस विभाग ने अब सुरक्षित मतगणना के प्रबंधों पर अपना सारा जोर लगा दिया है.

ये भी पढ़ें- 

उपेंद्र कुशवाहा की 'खूनी धमकी', बोले - महागठबंधन के नेताओं को हथियार उठाना हो तो उठा लें

IAS से लेकर होम सेक्रेटरी तक, ऐसा है आडवाणी को रोकने वाले BJP के इस सांसद का प्रोफाइल
Loading...

बिहार: रीजनल एजेंसियों के Exit Polls के अलग अनुमान, महागठबंधन को मिल रहीं बंपर सीटें

मोदी-शाह के करीबी इस नेता की रणनीति होती है 'अभेद्य', बिहार में BJP को बड़ी जीत की उम्मीद

उपेंद्र कुशवाहा: कभी कहे जाते थे 'नीतीश का विकल्प', आज खुद की पार्टी बचाने की है चुनौती
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...