UP Rajya Sabha: भाजपा ने राज्यसभा की 8 सीटों पर मारी बाजी, BSP और सपा को 1-1 पर मिली जीत

भाजपा ने 8 सीटों पर उम्‍मीदवार उतारे थे.

भाजपा ने 8 सीटों पर उम्‍मीदवार उतारे थे.

Rajya Sabha: उत्‍तर प्रदेश से भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के आठ, तो समाजवादी पार्टी और बसपा का एक-एक उम्‍मीदवार निर्विरोध चुना गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 2, 2020, 6:49 PM IST
  • Share this:

लखनऊ. राज्‍यसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो गए हैं. उत्‍तर प्रदेश से भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के आठ, तो समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और बसपा का एक-एक उम्‍मीदवार निर्विरोध राज्यसभा गया है. भाजपा की तरफ से केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह, पूर्व डीजीपी ब्रिज लाल, नीरज शेखर, हरिद्वार दूबे, गीता शाक्य, बी एल वर्मा और सीमा द्विवेदी को राज्‍यसभा जाने का मौका मिला है. जबकि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव और बसपा (BSP) प्रत्याशी रामजी गौतम निर्विरोध राज्यसभा सांसद चुने गए हैं.

आपको बात दें कि समाजवादी पार्टी ने संख्याबल को ध्यान में रखते हुए अपने वरिष्ठ नेता प्रोफेसर रामगोपाल यादव को उम्मीदवार बनाया है और एक निर्दलीय प्रत्याशी प्रकाश बजाज (Prakash Bajaj) को समर्थन दिया है. हालांकि पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के रहने वाले बजाज का पर्चा खारिज हो गया था.

Youtube Video

निर्विरोध निर्वाचित घोषित हुए सदस्‍यों को सहायक निर्वाचन अधिकारी मोहम्‍मद मुशाहिद सईद ने उनके प्रमाण पत्र सौंपे. भाजपा से निर्वाचित सदस्‍य बृजलाल ने बताया कि उन सभी का कार्यकाल 25 नवंबर 2020 से 24 नवंबर 2026 तक रहेगा. आपको बता दें कि दस सीटों के लिए कुल 11 उम्‍मीदवारों ने नामांकन किया था. जबकि निर्दलीय उम्‍मीदवार प्रकाश बजाज ने समाजवादी पार्टी के समर्थन से नामांकन पत्र दाखिल किया था लेकिन तकनीकी त्रुटि की वजह‍ से उनका नामांकन निरस्‍त हो गया. राज्‍यसभा में उत्‍तर प्रदेश कोटे से 31 सीटें हैं. इनमें अब सर्वाधिक 22 सीटें भारतीय जनता पार्टी की हो जाएंगी. जबकि समाजवादी पार्टी के पास पांच और बसपा के खाते में तीन सीटें रहेंगी. कांग्रेस के पास अब उत्‍तर प्रदेश से राज्‍यसभा की सिर्फ एक सीट रह जाएगी.


भाजपा ने उतारे थे 8 प्रत्‍याशी

राज्यसभा के 10 सांसदों का कार्यकाल 25 नवंबर को पूरा हो रहा है. इसमें भारतीय जनता पार्टी के तीन, समाजवादी पार्टी के चार, बसपा के के दो और कांग्रेस की एक सीट शामिल है. हालांकि राज्यसभा चुनावों में भाजपा यूपी में नौ प्रत्याशी उतारकर जीत हासिल करने की स्थिति में थी, लेकिन उसने सिर्फ आठ प्रत्याशी उतारते हुए एक सीट खाली छोड़ दी थी. यही नहीं, भाजपा के इस दांव ने जहां सबको चौंका दिया था. जबकि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने बसपा पर भाजपा के साथ गठजोड़ का आरोप लगाया था.



 राज्यसभा का बदला गणित

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की राज्यसभा की 11 सीटों के आए नतीजों से भाजपा राज्यसभा में अब तक के शिखर पर है. इसके अलावा कांग्रेस की सीटें इतिहास में सबसे कम हो गई हैं. इस समय राज्‍यसभा में भाजपा के 92 सांसद हैं. जबकि कांग्रेस 38 पर सिमट गई है. अगर एनडीए की बात करें तो उसके पास अब 112 सांसद हैं, लेकिन अभी वह बहुमत की संख्‍या से दस सीट दूर है. दरअसल, राज्यसभा में कुल सीटें 245 हैं जिनमें से 12 सीटों पर राष्ट्रपति सदस्यों को नामांकित करते हैं. वहीं, अन्‍य सीटों पर चुनाव होता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज