इलेक्शन कमीशन बैन: मायावती की एक तो योगी आदित्यनाथ की तीन रैलियां रद्द

प्रतिबंध के बाद दोनों ही नेता अपनी प्रस्तावित रैलियों को संबोधित नहीं कर सकेंगे. 16 अप्रैल को मायावती को आगरा में गठबंधन की संयुक्त रैली को संबोधित करना था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 15, 2019, 3:48 PM IST
इलेक्शन कमीशन बैन: मायावती की एक तो योगी आदित्यनाथ की तीन रैलियां रद्द
मायावती और योगी आदित्यनाथ की फाइल फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 15, 2019, 3:48 PM IST
चुनाव आयोग ने आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले पर सख्त कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बसपा सुप्रीमो मायावती के चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध लगाया है. योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे तो मायावती पर 48 घंटे का प्रतिबंध लगा है. यह प्रतिबंध 16 अप्रैल सुबह 6 बजे से लागू होगा.

प्रतिबंध के बाद दोनों ही नेता अपनी-प्रस्तावित रैलियों को संबोधित नहीं कर सकेंगे. 16 अप्रैल को मायावती की आगरा में गठबंधन की संयुक्त रैली को संबोधित करना था. उधर, योगी आदित्यनाथ अगले तीन दिनों तक किसी भी रैली को संबोधित नहीं कर सकेंगे. उनकी 16 अप्रैल को उनकी कर्नाटक के बीदर, हुबली और उडुपी में तीन रैलियां प्रस्तावित थीं.



गौरतलब है कि सोमवार को ही सुप्रीम कोर्ट ने मायावती के बयान पर कार्रवाई न करने को लेकर फटकार लगाई थी. चुनाव प्रचार के दौरान नफरत भरे भाषण देने और धार्मिक आधार पर वोट मांगने वाले नेताओं पर कार्रवाई न करने को लेकर चुनाव आयोग की सीमित शक्तियों को लेकर नाराजगी जताई है. कोर्ट ने आयोग से मंगलवार सुबह 10:30 बजे तक जवाब मांगा है.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, 'आप ऐसे मामलों को नजरअंदाज नहीं कर सकते. आपने ऐसे बयानों पर कुछ नहीं किया. आपको इन बयानों पर जरूर कार्रवाई करनी चाहिए.'

वहीं चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि चुनाव आचार संहिता तोड़ने को लेकर वह नोटिस और एडवाइजरी जारी कर रहा है. वह न तो किसी को अयोग्य करार दे सकता है और न ही किसी पार्टी को डिरजिस्ट्रार कर सकता है?

इस पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने सवाल किया कि क्या चुनाव आयोग अपनी ताकत जानता है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह चुनावी अभियान में हेट स्पीच और सांप्रदायिक बयानबाजी करने वाले नेताओं के खिलाफ कार्रवाई के लिए चुनाव आयोग के अधिकारों की जांच करेगा. चीफ जस्टिस ने कहा कि वे इस मामले की कल सुबह 10:30 बजे सुनवाई करेंगे और मंगलवार को चुनाव आयोग का कोई प्रतिनिधि मौजूद रहें.

बता दें मायावती ने 7 अप्रैल को सहारनपुर के देवबंद में गठबंधन की संयुक्त रैली में मुसलामानों से गठबंधन के पक्ष में मतदान करने की अपील की थी. जिसके जवाब में योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि अगर मायावती के अली हैं तो हमारे बजरंगबलि हैं.
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार