• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • सरकारी कॉलेजों से MBBS करने वाले हर डॉक्टर को 2 साल गांवों में करना होगा काम: योगी

सरकारी कॉलेजों से MBBS करने वाले हर डॉक्टर को 2 साल गांवों में करना होगा काम: योगी

सीएम योगी ने एक जनसभा के दौरान ये बड़ी घोषणा की है. (File Photo)

सीएम योगी ने एक जनसभा के दौरान ये बड़ी घोषणा की है. (File Photo)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने संचारी रोग नियंत्रण के क्षेत्र में अच्छा काम किया है. आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Scheme) के पात्रों को लाभ पहुंचाने का काम विभाग ने ठीक से किया है.

  • Share this:
    लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने सोमवार को कहा कि सरकारी मेडिकल कॉलेजों (Government medical colleges) से एमबीबीएस (MBBS) की डिग्री हासिल करने वाले हर डॉक्टर (Doctors) के लिए गांवों (Villages) में दो साल काम करना अनिवार्य होगा.

    मुख्यमंत्री ने लखनऊ में आयुष्मान भारत (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना) की पहली वर्षगांठ पर आयोजित कार्यक्रम में कहा, ‘इसके लिए इन डॉक्टरों से बॉन्ड भरवाया जा रहा है.’ उन्होंने कहा, ‘सरकारी मेडिकल कॉलेजों से एमबीबीएस करने वाले हर डॉक्टर को दो साल गांवों में काम करना अनिवार्य होगा. वहीं, एमडी और एमएस करने वाले डॉक्टर भी एक साल अनिवार्य रूप से गांवों में काम करेंगे. साथ ही, इंटर्नशिप के लिए भी सरकार को कोई मजबूर नहीं करेगा.’

    बनाए जा रहे हैं 15 नए मेडिकल कॉलेज
    योगी ने कहा कि 1947 से 2012 तक 12 मेडिकल कॉलेज बने थे. पंद्रह नए मेडिकल कॉलेजों के लिए हम काम कर रहे हैं. सात नए मेडिकल कॉलेज इस दौरान खोल दिए गए हैं. हर जिले में लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस दी गई है. यह लोगों की जिंदगी बचाने का काम कर रही है.

    'आयुष्मान भारत' दुनिया की सबसे बड़ी आरोग्य योजना
    उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने संचारी रोग नियंत्रण के क्षेत्र में अच्छा काम किया है. आयुष्मान भारत योजना के पात्रों को लाभ पहुंचाने का काम विभाग ने ठीक से किया है. सामाजिक सुरक्षा की इतनी बड़ी गारंटी आजादी के बाद पहली बार लोगों को मिली है. यह दुनिया की सबसे बड़ी आरोग्य योजना है.

    46.86 लाख गोल्डन कार्ड बनाए गए
    उन्होंने कहा कि ‘प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ के तहत प्रदेश में कुल 46.86 लाख गोल्डन कार्ड बनाए गए. मुख्यमंत्री आरोग्य योजना के तहत 1.89 लाख लोगों को गोल्डन कार्ड प्राप्त हुआ. कई जिलों में बेहतर काम हुआ है, तो कई जिलों में कार्य की गति धीमी है. जनहित एवं स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए सभी को कार्य करना होगा.

    ये भी पढ़ें-

    CM योगी बोले- प्रदेश में बनाए जा रहे 15 नए मेडिकल कॉलेज

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज