Home /News /uttar-pradesh /

अयोध्या में 'दूसरे राम मंदिर आंदोलन' की आहट से फूले प्रशासन के हाथ-पैर

अयोध्या में 'दूसरे राम मंदिर आंदोलन' की आहट से फूले प्रशासन के हाथ-पैर

अयोध्‍या

अयोध्‍या

अयोध्या क्षेत्र में बढ़ी संवेदनशीलता और देश में आतंकवादी गतिविधियों को देखते हुए राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद अधिगृहित परिसर में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए धारा-144 लागू करना जरूरी हो गया है.

    उत्तर प्रदेश में विश्व हिंदू परिषद की धर्म सभा को लेकर जिस तरह से तैयारियां चल रही है, उसे लेकर माना जा रहा है कि 25 नवंबर को अयोध्या की फिजां बेहद गर्म होने वाली है. विहिप के इस कार्यक्रम के लिए आरएसएस के साथ ही बीजेपी ने भी पूरी ताकत झोंक दी है. उधर, अचानक अयोध्या में बढ़ रही सरगर्मी को देखते हुए प्रदेश के डीजीपी से लेकर गृह विभाग के अफसर सुरक्षा की तैयारियों में जुट गए हैं.

    बता दें 24 व 25 नवंबर को अयोध्या में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से लेकर विश्व हिंदू परिषद की बड़ी धर्म सभा आयोजित होनी है. इसके लिए आरएसएस से लेकर बीजेपी तक ताकत झोंके हुए हैं. बुधवार को इसी क्रम में लखनऊ में भी भैया जी जोशी ने मैराथन बैठक की और दावा किया कि 25 नवंबर को विहिप की धर्मसभा में देश भर से लाखों रामभक्त अयोध्या पहुंचेंगे.

    VHP की विराट धर्म सभा का उद्देश्य राम मंदिर की बाधाओं को दूर करना है: चंपत राय

    उधर, फैजाबाद के अपर जिला मजिस्ट्रेट, कानून व्यवस्था पीडी गुप्ता ने जो आदेश जारी किया है. उसमें कहा गया है कि अयोध्या क्षेत्र में परिक्रमा और कार्तिक पूर्णिमा मेला के कारण बढ़ी संवेदनशीलता और देश में आतंकवादी गतिविधियों को देखते हुए राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद अधिक्रहीत परिसर में शांति व्यवस्था और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए धारा 144 लागू करना जरूरी हो गया है. इसी क्रम में अयोध्या जिले में 17 जनवरी 2019 तक धारा 144 बढ़ा दी गई है. जिले में निषेधाज्ञा लागू हो गई है.

    राम मंदिर निर्माण पर विहिप की धर्मसभा के लिए RSS और बीजेपी ने झोंकी ताकत

    अयोध्या में बढ़ती हुई भीड़ को लेकर सुरक्षा और सख्त कर दी गई है. निर्देश जारी किए गए हैं कि कोई भी व्यक्ति अधिगृहित परिसर में निर्धारित प्रवेश मार्ग के अलावा भिन्न मार्ग से प्रवेश नहीं कर सकेगा. इसके अलावा कोई भी व्यक्ति दर्शन मार्ग में प्रवेश द्वार से निकास द्वार तक ना तो रुकेगा और ना ही बैठेगा. यही नहीं कोई भी व्यक्ति लाठी-डंडा, अस्त्र-शस्त्र अथवा ज्वलनशील पदार्थ, मोबाइल फोन, इलेक्ट्रॉनिक वस्तु, विस्फोटक सामग्री परिसर के पास नहीं जा सकेगा.

    VIDEO: अयोध्या विवाद : संसद में कानून बनाकर राम मंदिर का हल निकाले सरकार : इकबाल अंसारी

    निर्देश में कहा गया है कि कोई भी अपने साथ कैमरा या वीडियो कैमरा टेढ़ी बाजार से उनवल वेद मंदिर रामकोट होते हुए रंग महल बैरियर तक नहीं ले जा पाएगा. इसके अलावा और भी कई नियम लागू ​हुए हैं.
    इसके अलावा भी रामजन्मभूमि परिसर के लिए कई नियम पहले से लागू हैं. बता दें पूर्व में सुरक्षा में चूक को लेकर कई खबरें आ चुकी हैं. इसी साल अगस्त महीने में दर्शन मार्ग एंट्री पॉइंट से एक युवक को रामपुरी चाकू के साथ पकड़ा गया था. इसके अलावा विवादित परिसर से जुड़े सभी मार्गों पर बड़े वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित होने के बावजूद सुरक्षा भेदकर परिसर के पास वाहन खड़े करने के मामले भी सामने आ चुके हैं.



    ये भी पढ़ें:

     

     

    बीजेपी MLA की सास को एंबुलेंस नहीं मिलने पर बवाल, फायरिंग के बाद 3 गाड़ियां जलाईं

    सपा कार्यकर्ता ने कैंसर पीड़ित पिता के लिए अखिलेश से लगाई गुहार, बीजेपी नेता ने बढ़ाया हाथ

     

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: Ayodhya Land Dispute, Ayodhya Mandir, Faizabad news, Lucknow news, Ram Mandir Dispute, Up news in hindi, Uttarpradesh news, फैजाबाद, लखनऊ

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर