Home /News /uttar-pradesh /

fight between bjp and samajwadi party in rajya sabha election raja bhaiya may be play important role upns

राज्यसभा चुनाव में क्या बाहुबली राजा भैया साबित होंगे ट्रंप कार्ड! समझिए UP की 11 सीटों का समीकरण

यूपी विधानसभा में सत्ताधारी बीजेपी गठबंधन के पास 273 विधायक हैं. (File photo)

यूपी विधानसभा में सत्ताधारी बीजेपी गठबंधन के पास 273 विधायक हैं. (File photo)

बता दें कि राज्यसभा में उत्तर प्रदेश से 31 सदस्य जाते हैं. इन सांसदों का खत्म हो रहा कार्यकाल- भाजपा के मुस्लिम चेहरे जफर इस्लाम, शिव प्रताप शुक्ला, संजय सेठ, सुरेंद्र नागर और जय प्रकाश निषाद शामिल है. वहीं समाजवादी पार्टी से कार्यकाल पूरा करने वालों में सुखराम सिंह यादव, रेवती रमण सिंह, विशंभर प्रसाद निषाद. जबकि बसपा के सतीश चंद्र मिश्रा और अशोक सिद्धार्थ और कांग्रेस के कपिल सिब्बल शामिल हैं. उत्तर प्रदेश से जुलाई में खाली हो रहे 11 राज्यसभा सदस्यों के पद के लिए चुनाव 10 जून को होगा.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (BJP) और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के बीच एक और तगड़ा मुकाबला होने वाला है. हालांकि, इसमें शुरुआत से ही बीजेपी का पलड़ा भारी दिख रहा है. यह मुकाबला है राज्यसभा चुनाव का, जिसकी सूबे में 11 सीटें खाली हो रही हैं. जिन राज्यसभा सांसदों का कार्यकाल पूरा हो रहा है, उनमें सबसे ज्यादा 5 भाजपा के ही सांसद हैं. बाकी 3 सपा, 2 बसपा और 1 कांग्रेस के सांसद हैं. बीते चुनाव के बाद 403 विधायकों वाली यूपी विधानसभा में सत्ताधारी बीजेपी गठबंधन के पास 273 विधायक हैं.

वहीं मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी और उसके सहयोगी दलों के विधायकों की कुल संख्या 125 बनती है. जुलाई में उत्तर प्रदेश से राज्यसभा की जो 11 सीटें खाली हो रही हैं, उसमें से प्रत्येक सीट के लिए कम से कम 37 विधायकों के वोट चाहिए. इस हिसाब से बीजेपी गठबंधन 7 सीटों पर आसानी से जीत दर्ज कर सकता है और 3 सीटों पर सपा गठबंधन की जीत पक्की लग रही है. असल मुकाबला 11वीं सीट के लिए होना है, जिसके लिए दोनों ही गठबंधन को बाकी दलों का समर्थन चाहिए.

राजा भैया की भूमिका अहम!
यूपी से राज्यसभा की 11वीं सीट पर किसी भी उम्मीदवार की जीत के लिए कांग्रेस, बाहुबली विधायक राजा भैया की जनसत्ता दल (लोकतांत्रिक) और बसपा की भूमिका अहम हो जाएगी. क्योंकि, कांग्रेस के 2, जनसत्ता दल (लोकतांत्रिक) के 2 और बीएसपी के 1 विधायक हैं. इनमें से सपा के कांग्रेस से समर्थन मिलना लगभग तय लग रहा है. इसी तरह राजा भैया की चुनावों से पहले जिस तरह से सपा चीफ अखिलेश यादव से तल्खी बढ़ी थी तो वह भाजपा गठबंधन के साथ जा सकते हैं.

भाजपा-सपा की जीत कितनी पर तय?
बसपा के बारे में फिलहाल कोई भी अटकल लगाना मुश्किल है. भाजपा गठबंधन के पास अपने सात उम्मीदवारों को वोट देने के बाद 24 अतिरिक्त वोट बचेंगे और सपा गठबंधन के पास 19 अतिरिक्त वोट. यानि मौजूदा गुना-गणित के हिसाब से 11वीं सीट पर भी सत्ताधारी गठबंधन का पलड़ा भारी पड़ सकता है. उत्तर प्रदेश में विधानसभा 2022 के चुनावों में प्रचंड बहुमत कायम करने वाली भारतीय जनता पार्टी अपनी शानदार जीत के बाद अब विधायकों की संख्या बल से राज्यसभा में अपनी दावेदारी और मजबूत करेगी.

इन सांसदों का खत्म हो रहा कार्यकाल
बता दें कि राज्यसभा में उत्तर प्रदेश से 31 सदस्य जाते हैं. इन सांसदों का खत्म हो रहा कार्यकाल- भाजपा के मुस्लिम चेहरे जफर इस्लाम, शिव प्रताप शुक्ला, संजय सेठ, सुरेंद्र नागर और जय प्रकाश निषाद शामिल हैं. वहीं समाजवादी पार्टी से कार्यकाल पूरा करने वालों में सुखराम सिंह यादव, रेवती रमण सिंह, विशंभर प्रसाद निषाद. जबकि बसपा के सतीश चंद्र मिश्रा और अशोक सिद्धार्थ और कांग्रेस के कपिल सिब्बल शामिल हैं. उत्तर प्रदेश से जुलाई में खाली हो रहे 11 राज्यसभा सदस्यों के पद के लिए चुनाव 10 जून को होगा.

Tags: All India Congress Committee, BSP MLA, CM Yogi, Lucknow News Today, Raja bhaiya, Rajya Sabha Elections, Samajwadi Party समाजवादी पार्टी, UP BJP, UP news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर