बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह पर लखनऊ में FIR, एसटीएफ कर रही जांच

बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह (File Photo)
बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह (File Photo)

बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह (Dhananjay Singh) पर आरोप है कि उन्होंने सुरक्षा लेने के लिए गोपनीय पत्र लीक किया. मामले की जांच एसटीएफ कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 7:44 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में जौनपुर के बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह (Dhananjay Singh) पर एफआईआर की गई है. यूपी एसटीएफ ने विभूति खंड थाने में ये एफआईआर दर्ज कराई है. ऑफिसियल सीक्रेट एक्ट में केस दर्ज किय गया है. धनंजय सिंह पर आरोप है कि उन्होंने सुरक्षा लेने के लिए गोपनीय पत्र लीक किया. मामले की जांच एसटीएफ कर रही है. बता दें दो दिन पहले ही धनंजय सिंह ने जौनपुर के मल्हनी विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर पर्चा भरा है.

जान से मारने की धमकी और खतरे का गोपनीय पत्र किया सार्वजनिक

दरअसल बाहुबली सांसद ने जान से मारने की धमकी और खतरे का पत्र सार्वजनिक किया था. अब  शासन के गोपनीय पत्र को सार्वजनिक करने के मामले में धनंजय सिंह पर केस किया गया है.आरोप है कि सुरक्षा लेने के लिए उन्होनें गोपनीय पत्र को लीक किया. धनंजय सिंह ने वर्तमान में हो रहे जौनपुर के मल्हनी विधानसभा उपचुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया है. वह निर्दलीय चुनाव में उतरे हैं. निषाद पार्टी के साथ बात नहीं बनने के बाद धनंजय सिंह ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लिया है.



धनंजय सिंह के सामने समाजवादी पार्टी से पारसनाथ यादव के बेटे लकी यादव चुनावी मैदान में हैं. पारसनाथ यादव के निधन के बाद ये सीट खाली हुई है. दो बार से इस सीट पर सपा का कब्जा रहा है. वहीं बीजेपी यहां एक बार भी जीत दर्ज नहीं कर सकी है.
लंबा आपराधिक इतिहास

धनंजय सिंह दो बार पूर्वांचल से विधायक और एक बार सासंद चुने जा चुके हैं. धनंजय पर कई गंभीर आपराधिक केस पहले से दर्ज हैं. जिससे हत्या, सबूत मिटाने और अपराध के लिए उकसाने जैसे अपराध शामिल हैं. एक याचिका के अनुसार करीब 24 अपराधिक मामलों में धनंजय शामिल रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज