अपना शहर चुनें

States

लखनऊ: पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या में गैंगस्टर ध्रुव सिंह, अखंड प्रताप सिंह और वाराणसी के गिरधारी पर FIR

पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह को बदमाशों ने लखनऊ में गोली मार दी जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई (फाइल फोटो)
पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह को बदमाशों ने लखनऊ में गोली मार दी जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई (फाइल फोटो)

लखनऊ (Lucknow): गोलीकांड में घायल मोहर सिंह ने आरोप लगाया है कि कन्हैया उर्फ गिरधारी उर्फ डॉक्टर और उसके तीन शूटर्स ने फायरिंग कर घटना को अंजाम दिया. बता दें कुंटू सिंह और अखंड प्रताप सिंह पूर्व विधायक हत्याकांड में जेल में बंद हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2021, 1:20 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या (Ajeet Singh Murder Case) में गैंगस्टर ध्रुव सिंह उर्फ कुंटू, अखंड प्रताप सिंह और वाराणसी के कन्हैया विश्वकर्मा उर्फ गिरधारी उर्फ डॉक्टर पर एफआईआर दर्ज की गई है. इस गोलीकांड में घायल मोहर सिंह ने ये एफआईआर दर्ज कराई है. आरोप है कि पूर्व विधायक सर्वेश सिंह की हत्या के मामले में गवाही से रोकने के लिए अजीत सिंह की हत्या की गई है. पूर्व विधायक की हत्या के मामले में अगले हफ्ते अजीत सिंह की गवाही होनी थी. अजीत को गवाही न देने के लिए धमकाया भी जा रहा था.

मोहर सिंह ने आरोप लगाया है कि कन्हैया उर्फ गिरधारी उर्फ डॉक्टर और उसके तीन शूटर्स ने फायरिंग कर घटना को अंजाम दिया. बता दें कुंटू सिंह और अखंड प्रताप सिंह पूर्व विधायक हत्याकांड में जेल में बंद हैं.

पूर्व विधायक सर्वेश सिंह हत्याकांड का चश्मदीद था अजीत



2013 में आज़मगढ़ में पूर्व विधायक सर्वेश सिंह की हत्या हुई थी. इस हत्याकांड में अजीत सिंह चश्मदीद गवाह था. उधर लखनऊ पुलिस शूटर्स की तलाश में जुटी हुई है. बता दें लखनऊ का कठौता चौराहा बुधवार देर शाम गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा. हथियारबंद अपराधियों ने पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी. कठौता चौराहे पर कई राउंड फायरिंग से सनसनी फैल गई. फायरिंग के दौरान अजीत सिंह का एक साथी मोहर सिंह भी घायल हुआ है. उसके पैर में गोली लगी है जिसके बाद उसे लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है.
शूटर्स की तलाश में छापेमारी तेज

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तीन की संख्या में शूटरों ने यह हमला किया था. स्कॉर्पियो सवार अजीत सिंह को गोली मारने के बाद अपराधी मौके से फरार हो गए. वहीं विभूतिखंड थाना क्षेत्र स्थित व्यस्त चौराहे पर सरेआम हुई गोलीबारी की वारदात की सूचना मिलने पर लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डी.के ठाकुर घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने कहा कि अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीम गठित की गई है. पुलिस वारदात के बारे में जानकारी जुटाने के लिए आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है.

मुख्तार अंसारी से जुड़े थे तार

बता दें कि मृतक अजीत सिंह पूर्व में मऊ के मोहम्मदाबाद गोहाना का ब्लॉक प्रमुख रह चुका है. वो एक जिला बदर अपराधी था, जिसके तार जेल में बंद माफिया डॉन मुख्तार अंसारी से जुड़े हुए थे. अजीत सिंह विधायक सर्वेश सिंह उर्फ सिम्पू सिंह की हत्या के मामले में गवाह था. विधायक सर्वेश सिंह की 19 जुलाई, 2013 को हत्या कर दी गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज