Home /News /uttar-pradesh /

अखिलेश यादव के बंगले में तोड़फोड़ की जांच के लिए बनी 5 सदस्यीय कमेटी

अखिलेश यादव के बंगले में तोड़फोड़ की जांच के लिए बनी 5 सदस्यीय कमेटी

नए आशियाने में शिफ्ट हुए अखिलेश यादव

नए आशियाने में शिफ्ट हुए अखिलेश यादव

राज्य संपत्ति विभाग ने सरकारी आवास में बैडमिंटन कोर्ट, साइकिल ट्रैक, जिम समेत कई स्थानों पर तोड़फोड़ की जांच के लिए पीडब्ल्यूडी से सहयोग मांगा था.

    समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा खाली किए गए 4, विक्रमादित्य मार्ग स्थित सरकारी बंगले में तोड़फोड़ व नुकसान की जांच के लिए लोक निर्माण विभाग ने 5 सदस्यीय कमेटी का गठन किया है. दरअसल, राज्य संपत्ति विभाग ने सरकारी आवास में बैडमिंटन कोर्ट, साइकिल ट्रैक, जिम समेत कई स्थानों पर तोड़फोड़ की जांच के लिए पीडब्ल्यूडी से सहयोग मांगा था. जिसके बाद जांच कमेटी गठित की गई.

    चीफ इंजीनियर भवन की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय कमेटी बंगले की जांच करेगी. इसमें निर्माण निगम के एमडी, चीफ आर्किटेक्ट और भवन एवं इलेक्ट्रिकल के एक-एक इंजीनियर को शामिल किया गया है. कमेटी जांच में निजी इंजीनियरों की मदद भी ले सकती है.

    यह भी पढ़ें: सरकारी बंगले पर अखिलेश यादव ने योगी सरकार को दिया ये सुझाव

    इस बीच अखिलेश यादव परिवार समेत अंसल गोल्फ सिटी स्थित बंगले में शिफ्ट हो गए. यह बंगला उन्होंने किराए पर लिया है. सोमवार को नेशनल सिक्योरिटी गार्ड्स (एनएसजी) की टीम ने मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव के एक ही लेन में बने आवासों का निरीक्षण किया. यहां महज चंद कदमों की दूरी पर दोनों ने अलग-अलग बंगलों में अपना आशियाना बनाया है.

    PHOTOS: अखिलेश यादव ने सरकारी बंगले को उजाड़ कर छोड़ा, फर्श तक उखाड़ ले गए

    बता दें कि अखिलेश यादव के बंगला खाली करने के बाद भी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा. जहां अखिलेश पर बंगले को उजाड़ने का आरोप लगा. वहीं, उन्होंने इस विवाद पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके खुद पर लगे आरोपों को निराधार बताया. अखिलेश ने कहा कि बीजेपी उन्हें बदनाम कर रही है.

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: Akhilesh yadav, Samajwadi party, लखनऊ

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर