होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /UPPSC: 80 विषय विशेषज्ञों पर गिरी गाज, गोपनीय कार्य से हुई छुट्टी, जानें वजह

UPPSC: 80 विषय विशेषज्ञों पर गिरी गाज, गोपनीय कार्य से हुई छुट्टी, जानें वजह

आयोग ने भर्ती परीक्षाओं की समीक्षा के बाद 80 विषय विशेषज्ञों की छुट्टी कर दी है.

आयोग ने भर्ती परीक्षाओं की समीक्षा के बाद 80 विषय विशेषज्ञों की छुट्टी कर दी है.

UPPSC News: कार्रवाई के पहले आयोग ने समीक्षा के बाद ऐसे विषय विशेषज्ञों को चिन्हित किया था जिनका प्रदर्शन अच्छा नहीं था ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

भर्ती परीक्षा प्रक्रिया में शुचिता पूर्ण व गुणवत्ता पूर्ण सुधार के लिए कार्रवाई.
हटाए गए विषय विशेषज्ञों के बदले नए विशेषज्ञों को पैनल में शामिल किया है.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में भर्ती परीक्षाओं में होने वाली गड़बड़ियों को लेकर भाजपा सरकार सख्त हो गई है. इस कड़ी में यूपी लोक सेवा आयोग की ओर से एक बड़ा एक्शन लिया गया है. आयोग ने भर्ती परीक्षाओं की समीक्षा के बाद 80 विषय विशेषज्ञों की छुट्टी कर दी है. आयोग ने यह कार्रवाई गुणवत्तापूर्ण कार्य न करने के आधार पर की है. इस कार्रवाई के पहले आयोग ने समीक्षा के बाद ऐसे विषय विशेषज्ञों को चिन्हित किया था जिनका प्रदर्शन अच्छा नहीं था. आयोग ने चिन्हित किए गए विषय विशेषज्ञों को आयोग के पैनल से ही बाहर कर दिया है.

आयोग के परीक्षा नियंत्रक अजय कुमार तिवारी ने विज्ञप्ति जारी कर यह जानकारी दी है. उन्होंने बताया है कि आयोग की भर्ती परीक्षा प्रक्रिया में शुचिता पूर्ण व गुणवत्ता पूर्ण सुधार के लिए यह कार्रवाई की गई है. परीक्षा नियंत्रक के मुताबिक आयोग में विषय विशेषज्ञों की गुणवत्ता की समीक्षा आगे भी इसी तरह जारी रहेगी. समीक्षा में गुणवत्ता मूल्यांकन प्रश्न पत्रों के निर्माण में कमी पर आगे भी इसी तरह कार्रवाई की जाएगी. ऐसे विषय विशेषज्ञों को आगे भी आयोग के पैनल से बाहर किया जाएगा जो आयोग के मानकों पर खरे नहीं उतरेंगे.

नए विशेषज्ञ को किया शामिल
हालांकि यूपी लोक सेवा आयोग ने हटाए गए विषय विशेषज्ञों के बदले कुछ नए विशेषज्ञों को पैनल में शामिल भी किया है. आयोग की ओर से दावा किया जा रहा है कि पैनल में देश के विशिष्ट विषय विशेषज्ञों को शामिल किया गया है. आयोग विषय विशेषज्ञों के पैनल का विस्तार भी कर रहा है. आयोग के परीक्षा नियंत्रक के मुताबिक आयोग ने हाल में ही संपन्न हुए पीसीएस 2021 के इंटरव्यू में भी प्रतिष्ठित विशेषज्ञों को शामिल किया था.

आपके शहर से (लखनऊ)

ताकि गलतियों के कारण अधर में ना लटकें परीक्षाएं
गौरतलब है कि यूपी लोक सेवा आयोग की कई परीक्षाएं गलत सवालों के पूछे जाने या गलत विकल्पों के चलते विवादों में रही हैं. जिसके कारण भर्तियों में शामिल अभ्यर्थी ही इन मामलों को लेकर हाईकोर्ट चले जाते हैं. जिससे भर्तियां जहां अधर में लटक जाती हैं. वहीं, कई भर्तियों के परिणाम हाईकोर्ट के फैसले के अधीन जारी करने पड़ते हैं. आयोग की भर्ती परीक्षाओं में तैयार होने वाले प्रश्न पत्रों में बार.बार हो रही गलतियों के मद्देनजर इस तरह की कार्रवाई की गई है.

Tags: Competitive exams, Lucknow news, UPPSC

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें