बड़ी खबर: पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति लखनऊ में गिरफ्तार, 1 हफ्ते पहले हुए थे रिहा
Amethi News in Hindi

बड़ी खबर: पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति लखनऊ में गिरफ्तार, 1 हफ्ते पहले हुए थे रिहा
पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति लखनऊ में गिरफ्तार (file photo)

वकील का आरोप है कि रेप मामले में गायत्री प्रजापति (Gayatri Prajapati) ने पीड़िता को करोड़ों की संपत्ति ट्रांसफर की. इसके भी पुख़्ता प्रमाण पुलिस को सौंपे गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2020, 7:07 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. पिछले दिनों दुष्कर्म मामले में जमानत पर जेल से रिहा हुए अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री रहे गायत्री प्रजापति (Former Minister Gayatri Prajapati) की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को शुक्रवार रात फिर से गिरफ्तार कर लिया गया है. लखनऊ की गाजीपुर पुलिस ने धोखाधड़ी, जालसाजी और धमकी देने के मामले में प्रजापति को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. फिलहाल गायत्री प्रसाद प्रजापति को केजीएमयू में भर्ती कराया गया है.

शुक्रवार को ही गायत्री प्रजापति के खिलाफ एक और FIR दर्ज की गई थी. यह एफआईआर रेप का आरोप लगाने वाली महिला के पूर्व वकील दिनेश चंद्र त्रिपाठी ने करवाई थी. एफआईआर में पीड़ित महिला को भी आरोपी बनाया गया है. त्रिपाठी ने आरोप लगाया कि मामले को रफा-दफा करने के लिए रेप पीड़िता और आरोपी गायत्री प्रजापति के बीच करोड़ों का लेनदेन हुआ.

वकील का आरोप मामले को सुलटाने के लिए करोड़ों का लेनदेन



वकील का आरोप है कि रेप मामले में गायत्री प्रजापति ने पीड़िता को करोड़ों की संपत्ति ट्रांसफर की. इसके भी पुख़्ता प्रमाण पुलिस को सौंपे गए हैं. जिसके बाद यह एफआईआर दर्ज की गई है. वादी का कहना है कि मामले को -दफा करने के लिए रेप पीड़िता और आरोपी के बीच करोड़ों लेनदेन हुआ है. बता दें पूरा मामला सपा शासनकाल का ही है जब चित्रकूट की एक महिला ने मंत्री गायत्री प्रजापति पर रेप का आरोप लगाया था. इसके बाद फ़रवरी 2017 में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गायत्री प्रजापति के खिलाफ केस दर्ज करते हुए गिरफ्तार केस किया गया था.
4 सितंबर को मिली थी हाईकोर्ट से 2 महीने की राहत

बता दें कि बीते 4 सितंबर को ही गायत्री प्रजापति को हाई कोर्ट से रेप केस में जमानत मिली थी. रेप मामले में जेल में बंद यूपी के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका हाई कोर्ट ने मंजूर कर ली थी. इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने गायत्री प्रसाद प्रजापति को 2 महीने की राहत दी थी. गायत्री प्रजापति लखनऊ जेल में कई महीनों से बंद थे. गायत्री प्रजापति अखिलेश यादव सरकार में खनन मंत्री रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज