लाइव टीवी

COVID-19: लखनऊ में आज से ये अधिकृत लोग ही घर से निकल सकेंगे, अन्य पर होगी सख्‍त कार्रवाई
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 10, 2020, 12:57 AM IST
COVID-19: लखनऊ में आज से ये अधिकृत लोग ही घर से निकल सकेंगे, अन्य पर होगी सख्‍त कार्रवाई
अपर पुलिस उपायुक्त रणविजय सिंह ने बताया कि, मृतक नोएडा के थाना सेक्टर 39 क्षेत्र में स्थित अपने आवास में लहूलुहान अवस्था में अपने कमरे में अकेले मिले. (प्रतीकात्मक चित्र)

COVID-19 के कारण राजधानी लखनऊ (Lucknow) के 12 हॉटस्पॉट क्षेत्रों में पूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) का नियम लागू रहेगा. शुक्रवार से कोई भी प्राइवेट गाड़ी सुबह 9:30 बजे से शाम 6:00 बजे के बीच नहीं चलेगी. डॉक्टर, पैरामेडिकल, प्रशासन, विद्युत विभाग और पुलिस के अधिकारियों को दिन में चलने की छूट रहेगी.

  • Share this:
लखनऊ. कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण लॉकडाउन (Lockdown) को प्राथमिकता से लागू करवाने के लिए राजधानी लखनऊ (Lucknow) में शुक्रवार से नई व्यवस्थाएं लागू हो जाएंगी. आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई से जुड़ी गाड़ियों को छोड़कर शेष सभी पर सुबह 9:30 बजे से शाम 6 बजे तक प्रतिबंध लगाया गया है. राजधानी में कोई भी प्राइवेट गाड़ी सुबह 9:30 बजे से शाम 6:00 बजे के बीच नहीं चलेगी. डॉक्टर, पैरामेडिकल, प्रशासन, विद्युत विभाग और पुलिस के अधिकारियों को दिन में चलने की छूट रहेगी. लखनऊ के 12 हॉटस्पॉट क्षेत्रों में पूर्ण बंदी का नियम लागू रहेगा.

इन कर्मियों को 9:30 बजे तक ऑफिस पहुंचना होगा
बैंककर्मियों, राजकीय कार्यालयों और सचिवालय के अधिकारियों-कर्मचारियों और वैध पास वाले लोगों को सुबह 9:30 बजे तक अपने ऑफिस पहुंचना होगा. जबकि इन सभी को 6:00 बजे के बाद ही अपने गंतव्य की ओर रवाना होना होगा. जरूरी सामानों को बेचने वाले दुकानदार भी अपनी दुकानों पर सुबह 9:30 बजे तक हर हाल में पहुंच जाएं. विपरीत परिस्थितियों में ही घर से पैदल निकले और मास्क का इस्तेमाल जरूर करें. पूर्ण बंदी का नियम लखनऊ के 12 हॉटस्पॉट क्षेत्रों में लागू रहेगा.

39,857 लोगों पर लॉकडाउन उल्लंघन का मुकदमा



उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में बहुत से लोगों ने लॉकडाउन का बड़े पैमाने पर उल्लंघन किया है. प्रदेश प्रशासन का आरोप है कि कुछ लोगों ने तो फर्जी खबरें (Fake News) तक प्रसारित की हैं. इस दोनों ही मामलों में आरोप सिद्ध होने पर जेल हो सकती है. अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने गुरुवार को संवाददाताओं को बताया कि प्रदेश में लॉकडाउन उल्लंघन के लिए IPC की धारा 188 के तहत 39,857 लोगों के खिलाफ 12,236 एफआईआर दर्ज की गई हैं. COVID-19 से संबंधित फर्जी समाचारों के प्रसार के आरोप में 78 मामले दर्ज किए गए हैं. यही नहीं, फर्जी खबर फैलाने का आरोप सिद्ध हुआ तो भी संबंधित व्यक्ति को जेल जाना पड़ सकता है.



यूपी में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या हुई 410
गुरुवार को 67 लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, जिसके बाद अब उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 400 के पार चली गई है. यूपी के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य, अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि अभी तक उत्तर प्रदेश के 40 जनपदों से कोरोना वायरस से संक्रमित कुल 410 मरीज सामने आए हैं. इनमें से 221 केस तबलीगी जमात (Tablighi Jamat) से जुड़े हैं. वहीं प्रदेश में अभी तक कुल 4 लोगों की मृत्यु हुई है. उन्होंने कहा कि अभी तक 31 लोग पूर्णतया स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं.

आइसोलेशन के तैयार हो चुके हैं  9442 बेड
प्रमुख सचिव स्वास्थ्य, अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अब तक प्रदेश में 9442 बेड आइसोलेशन के लिए तैयार हो चुके हैं. अब हमने निजी अस्पतालों को भी नोटिफाइड करना शुरू कर दिया है. अभी तक हमने 9 अस्पतालों को नोटिफाइड कर लिया है. विदेश से आए निगरानी पर रखे गए कुल व्यक्तियों की संख्या 63,855 है. इनमें 43,140 लोग 28 दिन की अवधि पूरी कर चुके हैं. उन्होंने बताया कि क्‍वारंटाइन के कुल बेड्स की संख्या 12,819 है. क्‍वारंटाइन में पाॅजिटिव लोगों के काॅन्टैक्ट्स या अन्य संदिग्ध मरीजों की कुल संख्या 5,734 है. आइसोलेशन वाॅर्ड में इस समय 412 मरीज हैं.

ये भी पढ़ें - 

खबरदार: UP में किया COVID-19 Lockdown उल्लंघन या फैलाई फर्जी खबर तो जाएंगे जेल

COVID-19 इफेक्ट: दिग्गी और सिंधिया को राज्यसभा जाने के लिए करना होगा इंतजार 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2020, 11:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading