कृष्णानंद राय हत्याकांड: शूटर फिरदौस को मार गिराने वाली इस STF टीम को 14 साल बाद गैलेंट्री अवार्ड
Mumbai News in Hindi

कृष्णानंद राय हत्याकांड: शूटर फिरदौस को मार गिराने वाली इस STF टीम को 14 साल बाद गैलेंट्री अवार्ड
(बाएं से) एसपी बाराबंकी डॉ अरविंद चतुर्वेदी, गृह विभाग में सचिव एसके भगत और आईजी भर्ती बोर्ड विजय भूषण.

2005 में बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय (Krishnanand Rai) की जघन्य हत्या के बाद यूपी एसटीएफ (UP STF) ने साल भर के अंदर शूटर फिरदौस को मुंबई के मॉल में हुए एनकाउंटर में मार गिराया था. अब 14 साल बाद एसटीएफ की उस टीम को राष्ट्रपति पुलिस गैलंट्री अवॉर्ड मिलने जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 4:18 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश से उत्कृष्ट वीरता के लिए राष्ट्रपति पुलिस गैलंट्री अवॉर्ड की घोषणा हो गई है. गृह विभाग में सचिव एसके भगत, आईजी भर्ती बोर्ड विजय भूषण, एसपी बाराबंकी डॉ अरविंद चतुर्वेदी, डिप्टी एसपी, मऊ धनंजय मिश्रा को गैलेंट्री अवॉर्ड (Gallantry Award) के लिए चयनित किया गया है. बता दें ये वो टीम है, जिसने बीजपी विधायक कृष्णानंद राय की 2005 में हुई हत्या में शामिल शूटर फिरदौस (Firdaus) को मुंबई के एक मॉल में हुए एनकाउंटर (Mumbai Mall Encounter) में मार गिराया था. खास बात ये है कि आईजी विजय भूषण को मिलने वाला ये 5वाां गैलंट्री अवॉर्ड है.

साल भर की तलाश के बाद मुंबई में मिला सुराग

बात 2005 की है. बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के बाद यूपी की सियासत में उबाल आ गया था. उस समय एसटीएफ की टीम मामले में आरोपी शूटर मुन्ना बजरंगी, अताउर्रहमान, विश्वास नेपाली, राकेश पांडे और फिरदौस की तलाश में थी. 2006 में पता चला कि ये सभी मुंबई में छिपे हैं.



मॉल में दिख गया फिरदौस
एसटीएफ के तत्कालीन एसपी एसके भगत, एडिशनल एसपी विजय भूषण, डिप्टी एसपी अरविंद चतुर्वेदी, इंस्पेक्टर धनंजय मिश्रा की टीम मुंबई में थी. इस दौरान एक सुबह फोन इंटरसेप्शन में आरोपियों के मलाड के एक मॉल में जाने की जानकारी मिली. सूचना मिलते ही एसपी एसके भगत की अगुआई में एक टीम उस मॉल में पहुंची, जहां उन्हें फिरदौस दिख गया.

भरी दोपहर भीड़ के बीच पुलिस एनकाउंटर

दोपहर के ढाई बज रहे थे और मॉल में भीड़ भी थी. लेकिन टीम फिरदौस को हाथ से जाने नहीं देना चाहती थी. इस दौरान टीम ने फिरदौस को रोकने का प्रयास किया तो फिरदौस ने अपनी दो पिस्टल के साथ फायरिंग शुरू कर दी. मॉल में ही एनकाउंटर शुरू हो गया. इसके बाद पुलिस की जवाबी फायरिंग में फिरदौस मारा गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज