Home /News /uttar-pradesh /

गोपाल गुप्ता बने IPS एसोसिएशन के नए अध्यक्ष, छाया रहा काडर प्रबंधन का मुद्दा

गोपाल गुप्ता बने IPS एसोसिएशन के नए अध्यक्ष, छाया रहा काडर प्रबंधन का मुद्दा

(सांकेतिक तस्वीर)

(सांकेतिक तस्वीर)

आईपीएस अफसरों ने विभाग के अराजपत्रित अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए वीकली ऑफ की वकालत करते हुए उनके कार्य की एक तय अवधि लागू किए जाने की बात उठाई.

    राजधानी लखनऊ में आयोजित पुलिस वीक के दौरान आईपीएस एसोसिएशन की बैठक के बाद नई कार्यकारिणी का गठन किया गया. डीजी ट्रेनिंग गोपाल गुप्ता एसोसिएशन के नए अध्यक्ष चुने गए. यह पद काफी समय से खाली था. इनके अलावा आदित्य मिश्र उपाध्यक्ष, नीलाब्जा चौधरी सचिव तथा सभाराज सिंह व अभिषेक यादव सदस्य निर्वाचित हुए हैं.

    आईपीएस एसोसिएशन की बैठक के दौरान काडर प्रबंधन का मुद्दा छाया रहा. आईपीएस अफसरों ने कहा कि काडर रिव्यू में संतुलन न होने की वजह से कई दिक्कतें आती हैं. जैसे हर वर्ष एक समान काडर न होने की वजह से पद कम या अधिक होना. अधिकारियों की समय पर तैनाती न होना. अधिकारियों ने इसके लिए पिछले कुछ वर्षों के काडर व पोस्टिंग के आंकड़े भी रखे. कहा गया कि 2019 में काडर रिव्यू होना है. ऐसे में इस बार काडर रिव्यू वैज्ञानिक आधार पर किया जाए.

    आईपीएस अफसरों ने विभाग के अराजपत्रित अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए वीकली ऑफ की वकालत करते हुए उनके कार्य की एक तय अवधि लागू किए जाने की बात उठाई. बैठक में कहा गया कि नए आईपीएस अधिकारियों के लिए संरक्षक (मेंटर डीजी, आईजी, डीआईजी स्तर के) निश्चित किए जाएं जो उनका मार्गदर्शन करेंगे.

    (रिपोर्ट: ऋषभ मणि त्रिपाठी)

    ये भी पढ़ें:

    ठंड से बचने के लिए कमरे में जलाया 'रूम हीटर', दम घुटने से मां-बेटे की मौत

    यूपी STF ने बरामद की 2 करोड़ की हेरोइन, एक तस्कर गिरफ्तार

    गाजीपुर: कांस्‍टेबल की मौत के बाद ताबड़तोड़ छापेमारी, हिरासत में लिए गए 28 प्रदर्शनकारी

    प्रयागराज: बेखौफ बदमाशों ने BJP सांसद के नाती को मारी गोली

    देवरिया: यूज एंड थ्रो की राजनीति करती है BJP: हार्दिक पटेल

    Tags: IPS, Up crime news, UP police, Uttar pradesh news, Yogi adityanath

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर