लाइव टीवी

राजनीति से ऊपर उठकर निर्णय ले सरकार, सपा गांव-गांव खाद्यान्न और दवा पहुंचाने को तैयार: अखिलेश यादव
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 2, 2020, 10:56 PM IST
राजनीति से ऊपर उठकर निर्णय ले सरकार, सपा गांव-गांव खाद्यान्न और दवा पहुंचाने को तैयार: अखिलेश यादव
अखिलेश यादव बोले, ‘भूख‘ का आइसोलेशन नहीं हो सकता (फाइल फोटो)

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कोरोना वायरस संकट (Coronavirus Crisis) के समय जनता से संयम से काम लेने की अपील करते हुए सरकार को जनता में विश्वास जगाने वाले कदम उठाने का सुझाव दिया है.

  • Share this:
लखनऊ. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कोरोना वायरस संकट (Coronavirus Crisis) के समय जनता से संयम से काम लेने की अपील करते हुए सरकार को  जनता में विश्वास जगाने वाले कदम उठाने का सुझाव दिया है. उन्होंने यह भी कहा है कि, ‘अगर सरकार राजनीति से ऊपर उठकर निर्णय ले तो वह गांव-गांव तक फैले समाजवादी पार्टी के संगठन और कार्यकर्ताओं से खाद्य-दवा आदि के वितरण में मदद ले सकती है. हम इसके लिए तैयार हैं.’

बच्चों तक पौष्टिक आहार पहुंचाने की व्यवस्था की जाए
अखिलेश यादव ने कहा कि राज्य सरकार की तरफ से यह स्पष्टीकरण आना चाहिए कि उसके पास अभी कितने दिनों के लिए खाद्य सामग्री का भण्डारण है. गेहूं से आटा बनाने का काम सम्बन्धित औद्योगिक इकाइयों द्वारा तुरन्त शुरू करना चाहिए. इससे खाद्य सामग्री की जमाखोरी-कालाबाजारी पर रोक लगेगी. इसी तरह जो बच्चे मीड-डे मील में पौष्टिक आहार पा रहे थे, उनके घरों तक इसे पहुंचाने की व्यवस्था की जानी चाहिए.

स्वास्थ्यकर्मियों को सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराए जाएं



अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार को यह बताने में भी नहीं हिचकना चाहिए कि प्रदेश के हर जिले में कोरोना की जांच की कितनी किटें उपलब्ध हैं. संक्रमण की आशंका को देखते हुए लोगों के लिए कितने आइसोलेशन वार्ड बने हैं और मरीजों के इलाज के लिए कितने वेंटिलेटर उपलब्ध हैं? इससे आश्वस्त लोगों में डर कम होगा. डाक्टरों, नर्सों और पैरामेडिकल स्टाफ का जनता को सम्मान करना चाहिए और उन्हें अपना कार्य करने देना चाहिए. स्वास्थ्यकर्मियों को सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराए जाएं.



अखिलेश ने पूछा, इन हालातों में अपनी फसल कहां बेचेगा किसान
अखिलेश यादव ने फसल पकने के बाद खेतों में खड़ी फसल की ओर ध्यान दिलाते हुए कहा है कि लॉकडाउन (Lockdown) के चलते फसल काटने के लिए मुंहमांगी कीमत पर भी मजदूर नहीं मिल रहे हैं. किसानों की दूसरी चिंता यह भी है कि इन हालात में वह अपनी फसल कहां बेचेगा? क्या किसानों को आढ़तियों के हाथों औने-पौनें दाम पर फसल लुटाने पर मजबूर होना पड़ेगा? यादव ने कहा कि इससे नोटबंदी से पहले से परेशान किसान अब लॉकडाउन में तो पूरी तरह बर्बाद हो जाएगा. उसके सामने जीवन-मरण की समस्या गम्भीर रूप ले लेगी. गन्ना किसानों के बकाए का तत्काल भुगतान करने की व्यवस्था की जाए.

ये भी पढ़ें - 

गृह मंत्रालय ने जमात पर लिया एक्शन, 960 विदेशी ब्लैकलिस्ट, पर्यटक वीजा भी रद्द

UP में सामने आए Coronavirus के 121 पॉजिटिव मामले: अतिरिक्त मुख्य सचिव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 2, 2020, 9:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading