हाथरस कांड: दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया बोले- सत्ता, जाति और वर्दी के अहंकार के आगे इंसानियत तार-तार

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (फाइल फोटो)
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (फाइल फोटो)

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने ट्वीट किया है कि उत्तर प्रदेश में कल रात पुलिस ने जिस तरह पीड़िता का अंतिम संस्कार किया वह भी बलात्कारी मानसिकता का ही प्रतीक है. सत्ता, जाति और वर्दी के अहंकार के आगे इंसानियत तार तार हो रही है.”

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 3:09 PM IST
  • Share this:
हाथरस. उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras) में दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप और हत्या (Hanthras Gangrape and Murder) के मामले में देश में सियासत गरमाई हुई है. विपक्ष लगातार योगी सरकार (Yogi Government) पर हमलावर है. वहीं अब दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Deputry CM Manish Sisodia) ने भी यूपी सरकार और पुलिस पर हमला किया है.

मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया है, “उत्तर प्रदेश में कल रात पुलिस ने जिस तरह पीड़िता का अंतिम संस्कार किया वह भी बलात्कारी मानसिकता का ही प्रतीक है. सत्ता, जाति और वर्दी के अहंकार के आगे इंसानियत तार तार हो रही है.”


पुलिस का दावा- अंतिम संस्कार परिवार ने ही किया



उधर पीड़िता के शव का आधी रात को जबरन बिना रीति रिवाज के अंतिम संस्कार (Crimation) करने की बात पर हाथरस पुलिस ने अपनी सफाई दी है. हाथरस पुलिस का कहना है कि सोशल मीडिया से असत्य खबर फैलाई जा रही है कि मृतका के शव का अंतिम संस्कार बिना परिजनों की अनुमति के पुलिस ने जबरन रात में करा दिया है.



पुलिस के अनुसार सच्चाई ये है कि पुलिस और प्रशासन की देखरेख में परिजनों द्वारा अपने रीति-रिवाज के साथ मृतका के शव का अंतिम संस्कार किया गया है.

उधर हाथरस के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा ने भी कहा है कि शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पीड़िता (Victim) के परिवारवालों की अनुमति से और उनके सहयोग से अंतिम संस्कार किया गया है. इसमे किसी भी तरह की कोई अड़चन नहीं आई. बाकी के सभी आरोप बेबुनियाद हैं. वहीं इस बारे में जब पुलिस अधिकारियों (Officers) से बात करनी चाही तो उन्होंने मना कर दिया.

पीएम मोदी ने लिया संज्ञान, सीएम योगी से की बात

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने हाथरस कांड का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बुधवार को फोन पर बातकर पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली. प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री से पूरे मामले कठोरतम कार्रवाई करने को कहा है. उन्होंने कहा है कि दोषियों को ऐसी सजा मिलनी चाहिए जो दूसरों के लिए नजीर बने. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है.

एसआईटी के आदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करते हुए लिखा कि प्रधानमंत्री से हाथरस कांड को लेकर वार्ता हुई है. उन्होंने कहा है कि दोषियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाए. इससे पहले उन्होंने एक और ट्वीट किया था, जिसमें मामले की जांच एसआईटी से कराने और प्रकरण के मुक़दमे को फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा है कि एसआईटी सात दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी और त्वरित न्याय के लिए मुक़दमे को फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज