हाथरस में गैंगरेप की शिकार दलित महिला की दिल्ली में मौत, दुखी मायावती ने किया ये ट्वीट

बसपा सुप्रीमो मायावती (फाइल फोटो)
बसपा सुप्रीमो मायावती (फाइल फोटो)

बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने ट्वीट किया है कि हाथरस में गैंगरेप (Hathras Gangrape) के बाद दलित पीड़िता की आज हुई मौत की खबर अति-दुःखद है. सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव सहायता करे और फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलाकर सजा दिलाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2020, 4:01 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप (Hathras Gangrape) की शिकार हुई दलित युवती की मंगलवार सुबह दिल्ली के एम्स में इलाज के दौरान मौत (Death) हो गई. इस बीच शव के गांव पहुंचने पर बाल्मीकि समाज के आंदोलित होने की आशंका को देखते हुए प्रशासन ने पीएसी तैनात कर दी है. उधर मामले में सियासत भी शुरू हो गई है. पीड़िता की मौत पर बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Supremo Mayawati) ने दुख जताते हुए मांग की है कि सरकार फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर अपराधियों को सजा दिलाए.

मायावती ने ट्वीट किया है, “यूपी के हाथरस में गैंगरेप के बाद दलित पीड़िता की आज हुई मौत की खबर अति-दुःखद. सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव सहायता करे व फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर अपराधियों को जल्द सजा सुनिश्चित करे, बीएसपी की यह मांग.”

बता दें अलीगढ़ (Aligarh) के जेएन मेडिकल कॉलेज में पीड़िता पिछले एक हफ्ते से वेंटिलेटर सपोर्ट पर थी और सोमवार को ही उन्‍हें दिल्ली के सफदरजंग अस्‍पताल में शिफ्ट किया गया था.







ये है पूरा मामला

दरअसल, हाथरस के थाना चंदपा क्षेत्र के गांव बुलगढ़ी में अपनी मां के साथ खेत से चारा लेने के लिए गई युवती के साथ गांव के ही दबंगों ने पहले तो दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. उसके बाद उसे जान से मारने की कोशिश की, लेकिन युवती के चीखने-चिल्लाने से मौके पर ग्रामीणों को आता देख दबंग वहां से फरार हो गए. इसके बाद पीड़ित युवती के परिजनों ने पुलिस को सूचना दी. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने गंभीर रूप से घायल युवती को अलीगढ़ के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया.

14 सितंबर की इस घटना में आरोप है कि युवती के साथ गांव के ही 4 लोगों ने गैंगरेप किया और फिर जान से मारने की नियत से उसकी गला दबाकर हत्या की कोशिश की थी. गैंगरेप की शिकार हुई युवती के साथ हैवानियत की सभी हदें पार कर दी गई थी. उनका जीभ तक काट दी गई थी. उसकी गले के पीछे रीढ़ की हड्डी भी टूट गई थी. मामले में पुलिस ने सभी चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. सभी आरोपी उच्च बिरादरी के हैं. अब पीड़िता की मौत के बाद उनके खिलाफ हत्या की धारा भी जोड़ी जा रही है.

मायावती और भीम आर्मी जता चुके हैं विरोध

इस मामले में सियासत भी शुरू हो चुकी है, बसपा सुप्रीमो मायावती के साथ ही भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर मामले में कार्रवाई की मांग कर चुके हैं. चंद्रशेखर तो बाकायदा अपने समर्थकों के साथ मेडिकल कॉलेज में पीड़िता से मिलने भी पहुंचे थे. अब पीड़िता की मौत के बाद पुलिस को माहौल ख़राब होने की आशंका है. लिहाजा गांव में भारी संख्या में फ़ोर्स तैनात कर दी गई है.

सभी आरोपी गिरफ्तार

हाथरस के पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर (Vikram Veer) ने बताया कि 14 सितंबर को हुए इस सामूहिक दुष्कर्म के मामले में चारों नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. दुष्कर्म के बाद पीड़िता के साथ हैवानियत की गई थी. इस मामले में आरोपियों की पहचान गांव के ही रहने वाले संदीप, लवकुश, रामू और रवि के रूप में हुई थी. हाथरस पुलिस अधीक्षक ने बताया कि संदीप को 14 सितंबर को ही गिरफ्तार कर लिया गया था. घटना के कई दिन बीत जाने के बाद पुलिस ने रामू और लवकुश को गिरफ्तार किया. वहीं फरार चल रहे चौथे आरोपी रवि को 26 सितंबर को पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया है. एसपी ने बताया कि मुकदमा दर्ज करने के साथ ही मुआवजे के लिए समाज कल्याण विभाग को भी लिखा गया था जो स्वीकृत कर लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज