कमलेश तिवारी हत्याकांड: आरोपी यूसुफ खान की जमानत अर्जी खारिज, जानिए HC ने क्या कहा?

लखनऊ: 2019 में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी (File Photo) की उनके घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी.

लखनऊ: 2019 में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी (File Photo) की उनके घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी.

Lucknow News: हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड में आरोपी यूसुफ खान की जमानत याचिका खारिज कर दी है. हाईकोर्ट ने कहा कि आरोपी के आपराधिक इतिहास और उसकी अपराध में संलिप्तता को देखते हुए जमानत रिहा करने का अच्छा आधार नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2021, 8:54 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kanmlesh Tiwari Murder Case) मामले में आरोपी युसूफ खान (Yusuf Khan) को बड़ा झटका लगा है. हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच (High Court, Lucknow Bench) ने यूसुफ खान की जमानत अर्जी खारिज कर दी है. हाईकोर्ट लखनऊ बेंच ने आदेश में कहा है कि याची का लंबा आपराधिक इतिहास है. याची के कृत्य से यूपी की कानून व्यवस्था को नुकसान पहुंचा है. इसके साथ ही हाईकोर्ट ने उसे रिहा करने से इंकार करते हुए उसकी जमानत अर्जी खारिज कर दी. न्यायमूर्ति दिनेश कुमार सिंह की कोर्ट ने ये आदेश दिया है.

बता दें वर्ष 2019 में लखनऊ के नाका हिंडोला थाना क्षेत्र में कमलेश तिवारी की उनके घर में घुसकर जघन्य तरीके से हत्या कर दी गई थी. मामले में पुलिस ने यूसुफ खान को हमलावरों को हथियार मुहैया कराने के आरोप में गिरफ्तार किया था. कोर्ट में जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान शासकीय अधिवक्ता ने कहा कि साजिश में यूसुफ खान का भी हाथ था. उसने हमलावरों को हथियार उपलब्ध कराए थे. अधिवक्ता ने बताया कि आरोपी के खिलाफ 10 केस पहले से चल रहे हैं. उसकी वजह से ही कानून व्यवथा खराब हुई. ये जमानत पर रिहा किए जाने लायक नहीं है.

हाईकोर्ट ने कहा...

इसके बाद कोर्ट ने याची के वकील की तरफ से दिए गए सभी तर्क दरकिनार करते हुए कहा कि आरोपी के आपराधिक इतिहास और उसकी अपराध में संलिप्तता को देखते हुए जमानत रिहा करने का अच्छा आधार नहीं है जमानत अर्जी खारिज की जाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज