लाइव टीवी

पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं हिंदूवादी नेता रंजीत बच्चन के हत्यारे, 50 हजार का इनाम घोषित
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 3, 2020, 8:25 AM IST
पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं हिंदूवादी नेता रंजीत बच्चन के हत्यारे, 50 हजार का इनाम घोषित
विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन की हत्या कर दी गई. (फाइल फोटो)

Ranjeet Bachchan Murder: पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने बताया कि शॉल ओढ़े दो संदिग्ध सीसीटीवी फुटेज में दिखे हैं. पुलिस कमिश्नर ने संदिग्धों की सूचना देने वाले को 50 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है.

  • Share this:
लखनऊ. अंतरराष्‍ट्रीय हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रंजीत बच्चन (Ranjeet Bachchan) के हत्यारे अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं. रविवार शाम को पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज (CCTV) की मदद से दो संदिग्धों के स्केच जारी किया था. इतना ही नहीं पता बताने वालों को 50 हजार रुपए का इनाम देने की भी घोषणा की गई है. इस बीच हत्यारों की तलाश के लिए पुलिस की छह टीमें लगाई गई हैं.

पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने बताया कि शाल ओढ़े दो संदिग्ध सीसीटीवी फुटेज में दिखे हैं. एक संदिग्ध ने अपना चेहरा भी ढका हुआ है. पुलिस कमिश्नर ने संदिग्धों की सूचना देने वाले को 50 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है. इस संबंध में मोबाइल नंबर 9454400137 और ईमेल आईडी cplkw137@gmail.com पर सूचना दी जा सकती है. जानकारी देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा.

नाक पर मारी थी गोली
बता दें कि मृतक रंजीत बच्चन की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आ गई है. इसके मुताबिक, हमलावरों ने हिंदूवादी नेता की नाक पर बेहद करीब से गोली मारी थी. अत्यधिक खून बहने के कारण उनकी मौत हो गई. सूत्रों के मुताबिक, रिपोर्ट में 9 एमएम की पिस्टल से गोली मारने का संदेह जताया गया है. बता दें कि आमतौर पर प्रोफेशनल किलर 9 एमएम पिस्टल का इस्तेमाल करते हैं. इससे पहले बदमाशों द्वारा मुंगेर की बनी .32 बोर के पिस्टल का इस्तेमाल करने की बात सामने आई थी.

जांच में जुटी पुलिस
रंजीत बच्‍चन हत्याकांड को लखनऊ के पॉश इलाकों में से एक हजरतगंज में अंजाम दिया गया. लखनऊ के एडिशनल पुलिस कमिश्नर नवीन अरोड़ा ने बताया कि घटनास्थल से मृतक रंजीत बच्चन के दो मोबाइल बरामद हुए हैं. साइबर सेल की एक टीम मोबाइल फोन का डेटा खंगालने में लगी है.

पहली पत्नी से था विवादफायरिंग में घायल मौसेरे भाई आदित्य से पुलिस की टीम पूछताछ कर रही है. उन्होंने बताया कि गोरखपुर में अंतरराष्‍ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन का पहली पत्‍नी से विवाद चल रहा था. एडिशनल पुलिस कमिश्नर नवीन अरोड़ा के मुताबिक, मामले की जांच में कुल आठ टीमों को लगाया गया है. मृतक रंजीत बच्चन के खिलाफ गोरखपुर जिले में एक एफआईआर भी दर्ज है. पुलिस हर एंगल पर जांच पड़ताल में जुटी है.

ये भी पढ़ें:

सामने आई रंजीत बच्‍चन की पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट, इस वजह से हुई मौत

मोबाइल फोन से खुलेगा हिंदूवादी नेता रंजीत बच्चन की हत्या का राज!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 7:55 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर