लाइव टीवी

एक विवादित बयान को लेकर कमलेश तिवारी पर लग चुका था रासुका

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 18, 2019, 4:18 PM IST
एक विवादित बयान को लेकर कमलेश तिवारी पर लग चुका था रासुका
हिंदू महासभ के नेता कमलेश तिवारी की हत्या

इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) की लखनऊ बेंच (Lucknow Bench) ने अभी हाल ही में कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) पर लगी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) हटा दिया था.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) के नाका इलाके में हिन्दू महासभा (Hindu Mahasabha) के पूर्व अध्यक्ष रहे कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या (Murder) के बाद बवाल मचा हुआ है. नाका इलाके में लोगों ने दुकान बंद करवाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया है. इस बीच इलाके में पुलिस और पीएसी भी तैनात कर दी गई है.

हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी ने दिसंबर, 2015 में पैगंबर मुहम्मद को लेकर एक विवादित बयान दिया था. जिसके बाद कमलेश तिवारी की गिरफ्तारी हुई थी. इस मामले में वह फिलहाल जमानत पर रिहा चल रहे थे. इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अभी हाल ही में कमलेश तिवारी पर लगी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) हटा दिया था.

गला रेतकर की हत्या: डॉक्टर
बता दें कमलेश तिवारी को पहले गोली मारे जाने की खबर सामने आई थी, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि कमलेश तिवारी का किसी धारदार हथियार से गला रेता गया था. उधर पुलिस ने मौके से एक रिवाल्वर भी बरामद की है. पुलिस का कहना है कि हत्याकांड को कमलेश तिवारी के ही किसी परिचित ने अंजाम दिया है. वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गया है.

वायरल हुई दो संदिग्धों की फोटो

कमलेश तिवारी की हत्या के बाद सोशल मीडिया पर दो संदिग्ध हत्यारों की तस्वीर भी वायरल हुई है. इस तस्वीर में एक शख्स ने लाल तो दूसरे ने भगवा कुर्ता पहना हुआ है. पुलिस का कहना है कि किसी परिचित ने ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया है. कहा जा रहा है कि हत्यारे मिठाई के डिब्बे में हथियार लेकर पहुंचे थे.

किया था हिंदू समाज पार्टी का गठन
Loading...

बता दें हिंदू महासभा के अध्यक्ष रहे कमलेश तिवारी को पैगंबर मोहम्मद साहब के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करने के मामले में रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. इसके बाद 2017 विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने हिंदू समाज पार्टी का गठन किया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 18, 2019, 4:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...