लाइव टीवी

योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को बहुत सुधारा है: अमित शाह

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 29, 2019, 6:01 PM IST
योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को बहुत सुधारा है: अमित शाह
लखनऊ में अखिल भारतीय पुलिस साइंस कांग्रेस के दौरान गृह मंत्री अमित शाह और सीएम योगी आदित्यनाथ.

गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ (CM Yohgi Adityanath) के मुख्यमंत्री बनने के पहले यहां के लॉ एंड ऑर्डर (Law and Order) की बहुत चर्चाएं होती थी. आज मैं भाजपा अध्यक्ष और देश के गृहमंत्री दोनों के नाते कह सकता हूं कि योगी जी ने उत्तर प्रदेश के लॉ एंड ऑर्डर को बहुत सुधार दिया है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में दो दिन से चल रही 47वीं ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस (47th All India Police Science Congress) का समापन हो गया है. समापन कार्यक्रम में गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) भी शामिल हुए. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath), यूपी के डीजीपी भी मौजूद रहे. अपने संबोधन में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि इस दौरान उन्होंने कहा कि गुजरात का गृहमंत्री रहते हुए भी मैं एक बार पुलिस साइंस कांग्रेस में शामिल हुआ था. कई बार सोचता हूं कि उद्घाटन में जाना फायदेमंद है या समापन में? समापन में जाना अच्छा होता है क्योंकि तब कार्यक्रम में मिले विचारों का मंथन होता है. बीपीआरएनडी का काम समस्याओं को ढूंढकर उसका समाधान तलाशना है. पुलिस साइंस कांग्रेस में मिले विचारों पर बीपीआरएनडी काम करता है. 1960 से 2019 तक पुलिस साइंस कांग्रेस में मिले शोधपत्रों का क्या हुआ इस पर मंथन होना चाहिए.

आंतरिक सुरक्षा गृह मंत्रालय की जिम्मेदारी है, लॉ एंड ऑर्डर प्रदेश की. घुसपैठ, फेक करेंसी, साइबर क्राईम, नारकोटिक्स, नक्सलवाद जैसे मामलों में राज्य पुलिस और केंद्र के समन्वय की जरूरत है. केंद्र और राज्य पुलिस के बेहतर समन्वय से ही बड़ी चुनौतियों से निपटा जा सकता है. उन्होंने कहा कि हजारों जवानों ने देश की सुरक्षा के लिए अपने प्राण न्यौछावर किए हैं, तब जाकर देश की सुरक्षा सुनिश्चित हुई है. नरेन्द्र मोदी जी के आने के बाद दिल्ली में भव्य पुलिस स्मारक स्थापित किया है. क्या इस स्मारक को हम अपने-अपने राज्यों में पुलिस चेतना का जरिया बना सकते है?

लोग पुलिसकर्मी का अक्सर बनाते हैं मजाक लेकिन ये सोचें...

उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी का अक्सर मज़ाक बनाया जाता है, पुलिसकर्मी को बड़े तोंद वाला दिखाया जाता है. लेकिन देश की जनता को ये अनुभूति करनी होगी कि जब कोई भाई अपनी बहन के घर राखी बंधवाने जाता है, तब भी पुलिस का सिपाही ट्रैफिक की जिम्मेदारी संभालता है. जब आप होली या दिवाली मना रहे होते हैं तो उस दिन भी पुलिस का जवान लॉ एंड ऑर्डर की चिंता करता है. देश के एक-एक नागरिक के मन में पुलिस के प्रति सम्मान की भावना पैदा करना, ये हमारी प्राथमिकता है. जब तक ये नहीं कर सकते तब तक हम आंतरिक सुरक्षा को ठीक से नहीं निभा सकते.

आर्म्स एक्ट और नारकोटिक्स कानून में संशोधन के बाद आईपीसी, सीआरपीसी में बदलाव

गृह मंत्री ने कहा कि हमारे पड़ोस से आतंकवाद के जो बीज बोये जाते हैं, उससे बचाव के लिए सीमाओं की सुरक्षा को चुस्त और दुरुस्त करना जरूरी है. अर्द्धसैनिक बलों और राज्य पुलिस के बीच कोऑर्डिनेशन अभेद होना चाहिए. भारत सरकार ने आईपीसी (IPC) और सीआरपीसी (CrPC) में आमूल-चूल परिवर्तन का एक बहुत बड़ा काम हाथ में लिया है. इसी सत्र में आर्म्स एक्ट बदल रहे हैं, नारकोटिक्स के बारे में भी कानून संशोधन कर रहे हैं और उसके बाद आईपीसी और सीआरपीसी में बदलाव करेंगे.

हम एक सेंट्रल रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी बनाने जा रहे हैं: अमित शाहगृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ जी के मुख्यमंत्री बनने के पहले यहां के लॉ एंड ऑर्डर की बहुत चर्चाएं होती थी. आज मैं भाजपा अध्यक्ष और देश के गृहमंत्री दोनों के नाते कह सकता हूं कि योगी जी ने उत्तर प्रदेश के लॉ एंड ऑर्डर को बहुत सुधार दिया है. उन्होंने कहा कि हम एक सेंट्रल रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी बनाने जा रहे हैं और जिन राज्यों में पुलिस यूनिवर्सिटी नहीं है, वहां पर उसका एक कॉलेज खोलेंगे. जिस बच्चे ने ये तय किया है कि मुझे प्रोफेशनल पुलिस में ही जाना है, उसको वहां इस विषय की शिक्षा दी जाएगी.

ये भी पढ़ें:

'सोनभद्र मिडडे मील अनियमितता मामले में निलंबित किए जाएंगे ABSA'

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी से CMS ने अस्पताल में की बदसलूकी, आहत होकर डीएम से मांगी इच्छामृत्यु

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 5:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर