UP में अगर लेना चाहते हैं पर्सनल बार लाइसेंस, तो पूरी करनी होंगी ये शर्तें

शराब की दुकानों पर होने वाले बिक्री पर कड़ी नजर रखी जा रही है.

शराब की दुकानों पर होने वाले बिक्री पर कड़ी नजर रखी जा रही है.

Lucknow News: अपर मुख्य सचिव, आबकारी विभाग, संजय आर भूसरेड्डी ने बताया कि लोगों को शराब की खरीद, परिवहन और निजी कब्जे में रखने के लिए लाइसेंस 12 हजार रुपए वार्षिक फीस के देने होंगे. इसका प्रतिभूति 51 हजार रुपए निर्धारित है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 6:23 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. यूपी में जहरीली शराब से मौत के बाद हड़कंप मचा हुआ है. आबकारी विभाग (Exicse Department) ने शराब बिक्री को लेकर सख्त निर्देश जारी किए हैं. निर्देशों में साफ कर दिया गया है कि तय सीमा से अधिक शराब बिक्री करने या स्टॉक रखने पर कार्रवाई की जाएगी. यही नहीं तय सीमा से अधिक शराब मिलने पर एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी. बता दें शराब की फुटकर बिक्री की सीमा में पहले ही कमी की जा चुकी है. फुटकर बिक्री सीमा निर्धारित कर बीते 5 मार्च को अधिसूचना जारी हो चुकी है.

इसके अलावा सख्त निर्देश हैं कि 21 वर्ष से कम व्यक्ति शराब नहीं बेचे. यही नहीं पर्सनल बार लाइसेंस को लेकर भी नियम सख्त हैं. अब सिर्फ आयकर दाताओं को ही पर्सनल बार लाइसेंस मिलेगा. पर्सनल बार लाइसेंस के लिए 5 वर्ष के आयकर रिटर्न की प्रति देनी होगी. यही नहीं सिर्फ मूल निवास के लिए ही पर्सनल बार लाइसेंस मिलेगा. किसी भी गेस्ट हाउस या फॉर्म हाउस के लिए पर्सनल बार लाइसेंस नहीं मिलेगा.

ये है शराब रखने की लिमिट

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव, आबकारी विभाग संजय आर भूसरेड़्डी ने बताया कि अब कोई व्यक्ति एक समय में देशी मदिरा 200 एमएल की 5 बोतलें और देशी मदिरा (मसाला) की 200 एमएल वाली 5 बोतलें या विदेशी शराब 1.5 लीटर, विदेशी शराब (आयातित) 1.5 लीटर, भारी में भरी वाइन 2 लीटर और आयातित वाइन 2 लीटर, भारत में भरी बियर 6 लीटर, आयातित बियर 6 लीटर, इसी तरह अन्य प्रकर की भारतीय व आयातित शराब की 1.5 लीटर, एलएबी 6 लीटर से अधिक अपने पास नहीं रख सकेगा. इसका उल्लंघन करने पर तीन साल तक की सजा और 10 गुने तक पेनाल्टी या 2000 रुपए जो अधिक हो के अर्थदंड लगाया जाएगा. इसके अलावा आइपीसी की धाराओं में भी कार्रवाई होगी.
संजय आर भूसरेड्डी ने बताया कि लोगों को मदिरा की खरीद, परिवहन और निजी कब्जे में रखने के लिए लाइसेंस 12 हजार रुपए वार्षिक फीस के देने होंगे. इसका प्रतिभूति 51 हजार रुपए निर्धारित है. प्रतिभूति धनराशि जिला आबकारी अधिकारी को प्लेज्ड सावधि जमा रसीद के रूप में देय होगी.

पर्सनल बार लाइसेंस के लिए प्रमुख शर्तें

लाइसेंस को वैयक्तिक होम लाइसेंस कहा जाएगा.



वैयक्तिक होम लाइसेंस परिसर में परिवार के सदस्य, रिश्तेदार, परिवार के अतिथि और मित्र जो 21 वर्ष से कम न हों.

वैयक्तिक होम लाइसेंसी को किसी प्रकार का कैश अथवा काइन्ड या दोनों से भुगतान किए बिना लाइसेंसी की सहमति से मदिरा पान कर सकेंगे.

एक व्यक्ति को अपने एक मूल निवास के लिए ही केवल एक वैयक्तिक होम लाइसेंस अनुमन्य होगा.

वैयक्तिक होम लाइसेंस किसी भी व्यक्ति को अपने फॉर्म हाउस या गेस्ट हाउस के लिए अनुमन्य नहीं होगा.

वैयक्तिक होम लाइसेंस के लिए ऐसे आवेदक ही पात्र होंगे जो पिछले 5 साल से आयकर दाता हो.

आवेदन के साथ पिछले 5 साल के आयकर रिटर्न की स्वप्रमाणित प्रति संलग्न करनी होगी.

5 साल आयकर निर्धारण वर्षों में से न्यूनतम 3 वर्षों में आवेदक द्वारा न्यूनतम 20 प्रतिशत श्रेणी में आयकर का भुगान किया गया होना चाहिए.

वैयक्तिक होम लाइसेंस के आवेदन पत्र के साथ आवेदक के पैन कार्ड व आधार कार्ड की स्व प्रमाणित प्रति संलग्न होना अनिवार्य होगा.

वैयक्तिक होम लाइसेंस की शर्तों का उल्लंघन पाए जाने पर लाइसेंसी के खिलापफ आबकारी अधिनियम, व आईपीसी की सुसंगत धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी. ‘
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज