IMA की हड़ताल: KGMU में डॉक्टरों ने देखें 3685 मरीज, 93 ऑपरेशन टाले गए

लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, पीजीआई, लोहिया इंस्टीट्यूट, बलरामपुर हॉस्पिटल जैसे तमाम सरकारी अस्पतालों में भी नए ओपीडी का रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 17, 2019, 3:12 PM IST
IMA की हड़ताल: KGMU में डॉक्टरों ने देखें 3685 मरीज, 93 ऑपरेशन टाले गए
केजीएमयू में जूनियर डॉक्टर्स हड़ताल पर
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 17, 2019, 3:12 PM IST
पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट की घटना के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन द्वारा सोमवार को बुलाई गई देशव्यापी हड़ताल की वजह से राजधानी लखनऊ में मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ा. इस हड़ताल में निजी डॉक्टर्स और नर्सिंग होम्स भी शामिल हैं. जहां एक ओर निजी अस्पतालों में किसी मरीज का इलाज नहीं हुआ तो वहीं, सरकारी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में नए मरीजों के लिए ओपीडी सेवाएं ठप रही.

हालांकि लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, पीजीआई, लोहिया इंस्टीट्यूट, बलरामपुर हॉस्पिटल जैसे तमाम सरकारी अस्पतालों में भी नए ओपीडी का रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ. इतना ही नहीं कुल 93 ऑपरेशन टाले जाने की बात सामने आ रही है. हड़ताल के बावजूद केजीएमयू, लोहिया, बलरामपुर में पुराने ओपीडी, ट्रामा और इमरजेंसी में मरीजों को देखा गया. हालांकि डॉक्टरों ने काली पट्टी बांधकर हड़ताल का समर्थन भी किया.

KGMU में अलग-अलग विभागों में देखे गए 3685

जूनियर और रेजिडेंट डॉक्टर्स के हड़ताल पर होने के बावजूद केजीएमयू में सीनियर डॉक्टरों ने ओपीडी, इमरजेंसी और ट्रामा सेंटर में मरीजों का इलाज किया. सोमवार दोपहर तक 3685 मरीजों का इलाज किया गया. हालांकि आज नए ओपीडी पेशेंट्स का पंजीकरण नहीं हुआ, जिसकी वजह से लोगों को वापस लौटना पड़ा.

नए मरीजों को करना पड़ा परेशानी का सामना

सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर भूपेंद्र ने बताया कि ओपीडी में नए मरीजों का पंजीकरण बंद था, जिसकी वजह से मरीजों को वापस लौटना पड़ा. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि इमरजेंसी और ट्रामा सेंटर में ओपीडी का संचालन हो रहा है. केजीएमयू, पीजीआई, लोहिया संस्थानों में ओपीडी में मरीजों और तीमारदारों की लंबी लाइन देखने को मिली.

ये हैं हड़ताल में शामिल
Loading...

दरअसल, आईएमए द्वारा बुलाई गई इस हड़ताल में ज्यादातर प्राइवेट और नर्सिंग होम्स के डॉक्टर शामिल हैं. मेडिकल कॉलेज और सरकारी अस्पतालों के जूनियर व सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स आज काम का बहिष्कार कर रह हैं. लिहाजा आज कई ऑपरेशन को टाल दिया गया. आज के हड़ताल में 80 फ़ीसदी प्राइवेट और 20 फ़ीसदी सरकारी व मेडिकल कॉलेजों  डॉक्टर शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: BLOG: आदत डाल लीजिए, आज से गंज में बिना हेलमेट एंट्री बैन है

...तो इसलिए वेस्ट यूपी पर ज्यादा फोकस करेगी BJP!

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
First published: June 17, 2019, 3:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...