अब UP की सड़कों पर मिलेगा इम्यूनिटी का डोज, योगी सरकार 175 रास्तों को बनाएगी 'Herbal Road'

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है. (File Photo)
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है. (File Photo)

कोरोना काल (COVID-19) में दो कदम आगे बढ़कर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) ने एक खास प्लान तैयार किया है. अब यूपी के सड़कों पर लोगों को इम्यूनिटी बूस्ट करने वाले पौधें मिल जाएंगे.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की सड़कों पर अब इम्यूनिटी का डोज मिलेगा. स्वच्छ हवा के साथ बीमारियों से लड़ने को मजबूती भी मिलेगी. योगी सरकार ने प्रदेश की 175 सड़कों को हर्बल (Herbal) बनाने की योजना पूरी कर ली है. पीपल, नीम, तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा जैसी 30 प्रजातियों के 38 हजार से ज्यादा हर्बल और आयुर्वेदिक पौधे सड़कों के दोनों तरफ लगाए गए हैं. ये हर्बल पौधे सड़कों पर प्रदूषण (Pollution Level) कम करने के साथ ही संक्रामक बीमारियों का रास्ता भी रोकेंगे. मजबूती के साथ कोरोना से जंग लड़ रही योगी सरकार ने भविष्य की चुनौतियों से निपटने की तैयारी भी कर ली है.

कोरोना जैसी किसी भी संक्रामक बीमारी से पार पाने के लिए राज्य सरकार की रणनीति लोगों की इम्यूनिटी मजबूत करने की है. इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोक निर्माण विभाग को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर कुछ सड़कों को हर्बल मार्ग के तौर पर विकसित करने के निर्देश दिए थे. योजना के तहत प्रदेश से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों समेत राज्य सरकार की सड़कों को चिन्हत कर दोनों तरफ पीपल, नीम, गिलोई, मेंथा, लेमन ग्रास, भ्रिंगराज, मुई, आंवला, ब्राहमी, तुलसी, अनंतमूल, ग्वारपाठ,अवश्वगंधा और हल्दी जैसे आयुर्वेदिक और हर्बल पौधे लगाने के निर्देश दिए गए थे. मुख्यमंत्री की प्राथमिकता में शामिल इस योजना पर लोक निर्माण विभाग ने काम पूरा कर लिया है. लोक निर्माण विभाग के मुताबिक योजना में 18 मंडलों के जिलों से एक सड़क को हर्बल मार्ग के तौर पर विकसित किया गया है.

मार्ग के किनारे मिलेंगे ये पौधे



मासपर्णी, सप्तपर्णी, जत्रोफा, जलनीम, छोटा नीम, सहजन, पीपल, मिलोई,मेंथा,लेमन ग्रास,भ्रिंगराज,मुई,आंवला,ब्राहृमी,तुलसी,अनंतमूल,अश्वगंधा,ग्वारापाठा और हल्दी
बिना अतिरिक्त खर्च के पूरी कर ली योजना

तकरीबन 800 किमी की हरबल मार्ग योजना की खास बात यह भी रही कि लोकनिर्माण विभाग ने बिना किसी अतिरिक्त खर्च के इस योजना को अंजाम तक पहुंचा दिया. पीलब्ल्यूडी के अधिकारियों के मुताबिक विभाग में मौजूद संसाधन और कर्मचारियों के सहयोग से बिना किसी अतिरिक्त बजट के इस योजना को पूरा किया गया है. पौधे तैयार करने उनकी रोपाई और देखभाल के लिए विभागीय कर्मचारियों को प्रशिक्षित कर तैयार किया गया है.

ये भी पढ़ें: गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंजा AMU कैंपस, एथलेटिक ग्राउंड में युवक की बेरहमी से हत्या

प्रदेश के प्रमुख हर्बल मार्ग

लखनऊ . चंद्रिका देवी बीकेटी कुम्हरांवा मार्ग

गोरखपुर . गोरखपुर देवरिया उपमार्ग

प्रयागराज . रींवा रोड से पुराना यमुनापुल वाया ओमेक्स सिटी मिर्जापुर मार्ग तक

आगरा . आगरा बिचपुरी अछनेरा रोड

अलीगढ़ . अलीगढ़ राया मथुरा मार्ग के कि.मी.8 से सिधारपुर

आजमगढ़ . कप्तानगंज महराजगंज मार्ग

अयोध्या . पंचकोसी परिक्रमा मार्ग

गोण्डा . सर्किट हाउस से गोण्डा बहराइच मार्ग तक

झांसी . झांसी बालाजी उन्नाव मार्ग

कानपुर नगर . गंगा के दाहिने मार्जिनल बांध पर बैराज से मंधना तक

मेरठ . मेरठ बड़ोत मार्ग

मुरादाबाद . दिल्ली बरेली लखनउ राजमार्ग

वाराणसी . आशापुर से म्यूजियम मार्ग

मिर्जापुर . चील्ह गोपीगंज मार्ग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज