लाइव टीवी

शरद पवार ने पूछा- राम मंदिर के लिए ट्रस्ट तो मस्जिद के लिए क्यों नहीं?
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 20, 2020, 10:57 AM IST
शरद पवार ने पूछा- राम मंदिर के लिए ट्रस्ट तो मस्जिद के लिए क्यों नहीं?
लखनऊ पहुंचे शरद पवार ने योगी सरकार पर हमला बोला है. (फाइल फोटो )

NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा कि यदि मंदिर के लिए ट्रस्‍ट बनाया जा सकता है तो मस्जिद के लिए क्‍यों नहीं? उन्‍होंने योगी सरकार पर भी हमला बोला.

  • Share this:
लखनऊ. राजधानी लखनऊ पहुंचे राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार (Sharad Pawar) ने केंद्र सरकार पर धार्मिक आधार पर भेदभाव करने का आरोप लगाया है. उन्होंने अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर (Ram Temple) बनाने के लिए गठित श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का हवाला देते हुए कहा कि मस्जिद के लिए कोई ट्रस्ट नहीं बनाया गया. उन्होंने सवाल उठाया कि अगर मंदिर के लिए ट्रस्ट बन सकता है तो मस्जिद के लिए क्यों नहीं? देश तो सबका है और सभी के लिए है.

NCP चीफ शरद पवार ने कहा कि अयोध्या में बाबरी मस्जिद को गिराया गया था. पवार ने कहा कि सरकार मस्जिद बनाने के लिए भी ट्रस्ट बनाए और मदद मुहैया कराए. बता दें कि एनसीपी अध्यक्ष अपनी पार्टी के राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन में शामिल होने के लिए 19 फरवरी को लखनऊ में थे.

योगी सरकार के चौथे बजट पर ली चुटकी
मीडिया से बात करते हुए शरद पवार ने योगी सरकार के चौथे बजट पर भी चुटकी ली. उन्होंने कहा, 'इस बजट में किसानों के लिए कुछ नहीं है, जबकि बेरोजगारों को मासिक प्रशिक्षण भत्ता देने का प्रावधान किया गया है. यह कब मिलेगा, कहना मुश्किल है.' उन्होंने कहा कि युवाओं को मेहनत करने का अधिकार चाहिए. इस तरह भत्ते देने से काम नहीं चलेगा. पवार ने कहा यूपी से हर साल 40 फीसद तक युवा रोजगार की तलाश में महाराष्ट्र और दूसरे राज्यों में जाते हैं.



'यूपी से भी बीजेपी को सत्ता से करेंगे बेदखल'
शरद पवार ने कहा कि बीजेपी सरकार की नीतियों से आम जनता त्रस्त है, इसीलिए इन्हें सत्ता से बेदखल कर रही है. दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और कई राज्यों के मुख्यमंत्री प्रचार करने गए, लेकिन जनता ने अरविंद केजरीवाल को प्रचंड बहुमत से जीत दिलाई. शरद पवार ने कहा कि महाराष्ट्र की तरह ही यूपी में भी विपक्ष को एकजुट करने का काम किया जायेगा. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस गठबंधन की सरकार बेहतर ढंग से काम कर रही है. पवार ने सीएए और एनआरसी को भी गलत बताया. उन्होंने कहा कि इसमें मुस्लिम अल्पसंख्यकों को पूरी तरह नजरअंदाज किया गया है.

ये भी पढ़ें:

राम मंदिर ट्रस्ट की बैठक में हुए ये फैसले, SBI में खुलेगा ट्रस्ट का खाता

राम मंदिर ट्रस्ट: पहली बैठक में बड़ा फैसला,महंत नृत्यगोपाल दास बनाए गए अध्यक्ष

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 20, 2020, 10:40 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर