लाइव टीवी

लखनऊ में आरोपियों की होर्डिंग लगाने से विपक्ष में उबाल, सीएम योगी-केशव मौर्या निशाने पर
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 6, 2020, 9:09 PM IST
लखनऊ में आरोपियों की होर्डिंग लगाने से विपक्ष में उबाल, सीएम योगी-केशव मौर्या निशाने पर
समाजवादी पार्टी ने योगी आदित्यनाथ का हलफनामा tweet किया

सपा (Samajwadi Party) ने ट्वीट (Tweet) करके योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और केशव प्रसाद मौर्या के ऊपर दर्ज मुकदमों को सार्वजनिक किया है. इसे नाम दिया गया है-"लोकतंत्र में सच्चाई का परिचय आवश्यक है."

  • Share this:
लखनऊ. CAA Protest के दौरान हुई हिंसा व तोड़-फोड़ मामले में शहर में आरोपियों की होर्डिंग लगाने के बाद से विपक्षी दलों में उबाल आ गया है. विपक्ष ताबड़तोड़ यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और डिप्टी सीएम केशव मौर्या (Deputy CM Keshav Maurya) पर हमले कर रहा है.
योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा लखनऊ में हुए बवाल के बाद आरोपियों की फोटो होर्डिंग के रूप में लगाये जाने से प्रदेश की दो बड़ी विपक्षी पार्टियों की भौंहें तन गयी हैं. एक साथ समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने योगी सरकार (yogi government) पर हमला बोल दिया है. होर्डिंग लगाये जाने के लगभग 18 घण्टे बाद दोनों पार्टियों के नेताओं की तरफ से मोर्चा संभाला गया. समाजवादी पार्टी (samajwadi party) ने ट्विटर (twitter) के जरिये तो कांग्रेस (Congress) ने प्रेस नोट के जरिये योगी सरकार पर हमले किये हैं.

समाजवादी पार्टी का एक्शन
समाजवादी पार्टी ने बवाल के आरोपियों की होर्डिंग लगाये जाने पर सीधे सीएम आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या पर हमले किये हैं. सपा ने ट्वीट करके आदित्यनाथ और केशव प्रसाद मौर्या के ऊपर दर्ज मुकदमों को सार्वजनिक किया है. इसे नाम दिया गया है-"लोकतंत्र में सच्चाई का परिचय आवश्यक है." फोटो में योगी आदित्यनाथ के उस हलफनामे को दिखाया गया है जिसमें उन्होंने लोकसभा चुनाव के दौरान अपने ऊपर दर्ज मुकदमों की जानकारी दी थी. इसमें योगी आदित्यनाथ की फोटो भी लगायी गयी है. ऐसी ही डिटेल केशव प्रसाद मौर्या की भी ट्विटर के जरिये सार्वजनिक की गयी है.



yogi-keshav
डिप्टी सीएम केशव मौर्य व सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमलावर विपक्ष




कांग्रेस का हमला
दूसरी तरफ कांग्रेस ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ पर सीधा हमला बोला है. कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग ने मांग की है कि गोरखपुर, मऊ और आज़मगढ़ में पहले हुए दंगे के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को हुए नुकसान की भरपाई सीएम से की जानी चाहिए. योगी सरकार पर हमले बोलने के मामले में तो कांग्रेस सपा से भी आगे बढ़ गयी है. अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज आलम ने यहां तक आरोप लगाया है कि होर्डिंग लगाकर सरकार आरोपियों पर हमले करने के लिए उकसा रही है. जाहिर है जिस तरह से सपा और कांग्रेस ने इस मामले में रूख अख्तियार किया है उससे राजनीतिक घमासान मचना तय है. मामला सीएम और डिप्टी सीएम पर आरोपों का है. लिहाजा भाजपा चुपचाप सुनकर रह जाये, ऐसा संभव नहीं दिखता.

क्यों खिचीं तलवारें
बता दें कि गुरुवार की रात लखनऊ के तीन थाना क्षेत्रों के फेमस चौराहों पर उन लोगों की होर्डिंग जिला प्रशासन ने लगावाई हैं जिनपर दंगे का आरोप है और जिनसे एक करोड़ से ज्यादा की वसूली की जानी है. 19 दिसम्बर को सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान लखनऊ के कई इलाकों में जमकर आगजनी हुई थी. इसमें जिन लोगों को आरोपी बनाया गया है उनसे एक करोड़ से ज्यादा की वसूली करने के लिए नोटिस भेजा गया है. सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की भरपाई के लिए जिला प्रशासन आरोपियों से वसूली करना चाहता है. ऐसे 57 लोगों की फोटो उनके पते समेत होर्डिंग के रूप में शहर के कई चौराहों पर लगायी गयी है.

 

ये भी पढ़ें- होर्डिंग पॉलिटिक्‍स: अखिलेश ने सरकार पर साधा निशाना, बोले- ना दलील, ना वकील और बना दिया अपराधी

 

जेपी नड्डा की पार्टी में शामिल होने दिल्ली के लिए निकले भाजपा नेता पहुंच गए जयपुर, जानिए क्यों....
First published: March 6, 2020, 8:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading