रेलवे ने आज से किया बड़ा बदलाव, अब ट्रेन छूटने के 30 मिनट पहले बनेगा चार्ट

रेलवे ने आज से किया बड़ा बदलाव (file photo)
रेलवे ने आज से किया बड़ा बदलाव (file photo)

त्योहार (Festivals) के मौसम में ट्रेन (Train) में सफर करना सबसे बड़ी चुनौती होती थी. लेकिन इस नियम के बाद लोगों की थोड़ी मुश्किल जरूर कम होगी.

  • Share this:
लखनऊ. कोरोना महामारी के बीच सरकार सावधानी के साथ चीजों को सामान्य करने पर जोर दे रही है. भारतीय रेलवे (India Railway) ने शनिवार से अपने कुछ नियमों में बड़े बदलाव किए हैं. रेल यात्री अब ट्रेन छूटने के 5 मिनट पहले तक यात्री टिकट बुक कर सकते हैं. साथ ही अब ट्रेनों में टिकट आरक्षण (Reservation) का दूसरा चार्ट ट्रेन स्टेशन से छूटने से आधे घंटे पहले जारी होगा.

आपको बता दें कि कोरोना महामारी के चलते रेलवे ने यह समय आधे घंटे से बढ़ाकर 2 घंटे पहले कर दिया था. जिसमें ट्रेन चलाने से पहले तमाम तरह के नियम कानून कोरोना प्रोटोकॉल में फॉलो करने पड़ते थे. लेकिन जैसे-जैसे कोरोना का संकट कम हो रहा है. उधर, भारतीय रेलवे में सफर करने वाले लाखों यात्रियों को सहूलियत दे रही है.

क्या था पुराना नियम
ट्रेन के लिए प्रथम चार्ट ट्रेन चलने के चार घंटे पहले बनाया जाता था और चार घंटे पहले तक बुकिंग काउंटर से टिकट लिया जा सकता था और वापस किया जाता है. प्रथम चार्ट बनने के बाद जो बर्थ खाली रह जाती थी. ट्रेन चलने के दो घंटे पहले तक यात्री उस पर ऑनलाइन रिजर्वेशन टिकट ले सकते थे. वर्तमान व्यवस्था में कई स्पेशल ट्रेन में बर्थ खाली होती रहती थी, अंतिम समय में यात्री रिजर्वेशन टिकट नहीं ले पाते थे.
ट्रेन चलने से आधे घंटे पहले बनेगा चार्ट


रेलवे प्रशासन ने आज से अपनी टिकटिंग व्यवस्था में चार्ट बनाने की व्यव्यवस्था को बदल दिया है. अब ट्रेन चलने से पहले प्रथम आरक्षण चार्ट चार घंटे पहले बनाया जाएगा. दूसरा चार्ट ट्रेन चलने से आधे घंटे पहले तक बनेगा. यानी अगर आपको कहीं अचानक आवश्यक रूप से सफर करना हो तो आप ट्रेन पकड़ने के लिए घर से निकले के बाद मोबाइल से ई आरक्षण टिकट ले सकेंगे. जब तक आप रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे तब तक आप का चार्ट रेलवे प्लेटफार्म पर लगा होगा और आप ट्रेन में सफर कर सकेंगे.

यात्रियों को मिलगी विशेष मदद

इससे एक फायदा ये भी होगा कि यात्री खाली बर्थ पर रिजर्वेशन करा सकते हैं और टिकट भी वापस करा सकते हैं. जिस स्टेशन पर करंट बुकिंग काउंटर है, यात्री वहां से टिकट खरीद सकते हैं. वहीं ई टिकट ले सकते हैं. रेलवे की इस सुविधा से ऐसे लोगों को विशेष मदद मिलेगी, जिन्‍हें किसी विशेष आपात स्थितियों में ट्रेन से यात्रा करना पड़ती है.

दशहरा-दीपावली में लोगों को मिलेगी राहत
त्योहार के मौसम में ट्रेन में सफर करना सबसे बड़ी चुनौती होती थी. लेकिन इस नियम के बाद लोगों की थोड़ी मुश्किल जरूर कम होगी. रेल बोर्ड के चेयरमैन ने साफ कर चुके हैं कि त्योहारी मौसम में अक्टूबर से नवंबर के बीच 200 से भी अधिक ट्रेनें चलाई जाएंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज