• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • ISRO मिशन: चांद के बाद अब सूरज पर भी कदम रखेगा भारत

ISRO मिशन: चांद के बाद अब सूरज पर भी कदम रखेगा भारत

इसरो का अंतरिक्ष मिशन

इसरो का अंतरिक्ष मिशन

बीरबल साहनी इंस्टीट्यूट ऑफ पेलियोसाइंसेज में आयोजित कार्यक्रम में डॉ अनिल ने इसरो के अब तक के विभिन्न अभियानों पर बात करने के साथ ही आगामी योजनाओं पर बात की. उन्होंने कहा कि चंद्रयान एक और मंगलयान मिशन ने भारत को अलग पहचान दिलाई है.

  • Share this:
    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (इसरो) चांद और सूरज में छिपे कई और रहस्यों से आने वाले समय में पर्दा उठाएगा. इसरो 2019 में जहां चंद्रयान दो मिशन लॉन्च करने की तैयारी है, वहीं 2020 में आदित्य एलवन मिशन से सूर्य का अध्ययन किया जाएगा. इसके बाद 2022-23 में इसरो मार्स और वीनस मिशन की तैयारी में लगा है.

    बुधवार को प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंचे चंद्रयान एक और मंगलयान मिशन का अहम हिस्सा रहे इसरो वैज्ञानिक डॉ अनिल भारद्वाज ने संस्थान की भावी योजनाओं पर चर्चा की.



    बीरबल साहनी इंस्टीट्यूट ऑफ पेलियोसाइंसेज में आयोजित कार्यक्रम में डॉ अनिल ने इसरो के अब तक के विभिन्न अभियानों पर बात करने के साथ ही आगामी योजनाओं पर बात की. डॉ अनिल ने कहा कि चंद्रयान एक और मंगलयान मिशन ने भारत को अलग पहचान दिलाई है. आज विश्व की सभी अंतरिक्ष एजेंसियां भारत की तरफ देख रही हैं.



    उन्होंने कहा कि चंद्रयान दो मिशन काफी कॉम्प्लेक्स है. इसके लिए नई-नई तकनीक इजाद करने का काम चल रहा है. लखनऊ विश्वविद्यालय के एल्यूमनाई डॉ अनिल वर्तमान में डिपार्टमेंट ऑफ स्पेस की अहमदाबाद स्थित फिजिकल रिसर्च लेबोरेटरी के निदेशक हैं. (रिपोर्ट-शैलेश)

    ये भी पढ़ें: 2019 में चंद्रयान-2 मिशन का प्रक्षेपण किया जाएगा: ISRO

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज