यूपी में 69 हजार शिक्षकों की भर्ती पूरी होने में लग सकता है लंबा समय, जानिए क्या-क्या हैं चुनौतियां
Allahabad News in Hindi

यूपी में 69 हजार शिक्षकों की भर्ती पूरी होने में लग सकता है लंबा समय, जानिए क्या-क्या हैं चुनौतियां
प्रयागराज में अनामिका शुक्ला के दस्तावेजों पर नौकरी करने वाली रीना की सेवा समाप्त कर दी गई है. (प्रतीकात्मक फोटो)

उत्तर प्रदेश में 69 हजार शिक्षक भर्ती (69000 Assistant Teachers Recruitment) का रिजल्ट आने के बाद परीक्षा के एक दिन पहले यूट्यूब चैनल पर पेपर लीक का मुद्दा भी उछल रहा है. यही नहीं, सोशल मीडिया पर परीक्षा में टॉप करने वाले अभ्यर्थियों की मार्कशीट भी वायरल होने लगी है, वो भी अकेडमिक बैकग्राउंड के साथ.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में 69 हजार शिक्षक भर्ती (69000 Assistant Teachers Recruitment) मामला एक बार फिर सुर्खियों में है. एक ओर सरकार जहां भर्ती प्रक्रिया को पूरा करने में जुटी है, वहीं दूसरी ओर कुछ अभ्यर्थियों ने पूरी भर्ती प्रक्रिया पर धांधली का आरोप लगाया है. रिजल्ट आने के बाद परीक्षा के एक दिन पहले यूट्यूब चैनल पर पेपर लीक का मुद्दा भी उछल रहा है. यही नहीं, सोशल मीडिया पर परीक्षा में टॉप करने वाले अभ्यर्थियों की मार्कशीट भी वायरल होने लगी है, वो भी अकेडमिक बैकग्राउंड के साथ. वहीं इस परीक्षा में कुछ प्रश्नों पर भी सवाल उठे हैं, जिसे लेकर हाईकोर्ट में सुनवाई चल रही है. करीब 350 से ज्यादा याचिकाएं लगी हैं.

21 मई को आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने भी पेपर लीक होने के संबंध में एफआईआर दर्ज कराने की जानकारी अपने ट्विटर हैंडल पर दी थी. उन्होंने दावा किया था कि भर्ती प्रक्रिया में पेपर लीक होने के पूरे सबूत हैं. ऐसे में तीन महीने में भर्ती प्रक्रिया पूरी होगी, इस पर संदेह जताया जा रहा है.

ये है पूरा मामला



6 जनवरी 2019 को लिखित परीक्षा हुई और इससे एक दिन पहले ही पेपर आउट होने की बात सामने आई. यूपी पुलिस और एसटीएफ ने पूरे प्रदेश में छापेमारी कर 28 लोगों को गिरफ्तार भी किया. यूट्यूब-व्हाट्सएप पर ऑन्सर की वायरल होने का दावा भी किया गया. परीक्षा होने के अगले दिन से ही कुछ अभ्यर्थियों ने धांधली का आरोप लगाते हुए इसे कैंसल करने की मांग शुरू कर दी. एक अभ्यर्थी का कहना है कि 6 जनवरी को परीक्षा थी. 5 जनवरी को एक यूट्यूब चैनल पर आंसर.की वायरल हुई. जिसमें 135 के लगभग सही जवाब थे. वीडियो के डिस्क्रिप्शन वीडियो में अपलोड की तारीख भी 5 जनवरी लिखी थी.
अभ्यर्थियों का आरोप है कि एसटीएफ ने जिस तरह आंसर की पकड़ा, गिरफ्तारियां हुईं. उसके बावजूद भी सरकार ने जांच के आदेश नहीं दिए. 7 जनवरी से हम लोगों ने दो महीने तक प्रोटेस्ट किया. हाईकोर्ट में याचिका भी दायर की लेकिन सरकार ने अभी तक अपना जवाब दाखिल नहीं किया है.

टॉपर मीडिया से छिपते फिर रहे

रिजल्ट आने के बाद कई अभ्यर्थियों की मार्कशीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. 150 में से 143 से लेकर 130 नंबर तक पाने वाले ये अभ्यर्थी मीडिया या अन्य अभ्यर्थियों से बात करने से बच रहे हैं. मार्कशीट के साथ ही एकेडमिक बैकग्राउंड भी सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा है. आरोप है कि किसी को हाईस्कूल के बाद इंटर पास करने में 4 साल लग गए तो किसी ने ग्रैजुएशन पूरा करने में 7 साल लगा दिए. कई ऐसे लोग हैं, जिनके 5 विषय की परीक्षा TET में नंबर आए 100 में 40, 35 जबकि उससे ज्यादा कठिन और 14 विषयों वाले लिखित परीक्षा में 90-95 प्रतिशत अंक आए. जबकि इन दोनों परीक्षाओं के बीच लगभग एक महीने का अंतर था. सोशल मीडिया पर ऐसी भी कई मार्कशीट वायरल हैं.

140 अंक पाने वाले अभ्यर्थी का ऑडियो क्लिप हुआ वायरल

आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने भी एक ऑडियो क्लिप शेयर किया है. जो कथित तौर पर राजू पटेल का है. राजू पटेल को लिखित परीक्षा में 140 नंबर मिले हैं. इस ऑडियो में राजू जुगाड़ के जरिए अपना और अपनी बहन के पास होने की बात करते हैं. अमिताभ ठाकुर ने इस पेपर लीक होने होने तथा अन्य अनियमितताओं के संबंध में एफआईआर दर्ज करने के लिए थाना हजरतगंज, लखनऊ में प्रार्थनापत्र भी दिया है.

ये भी पढ़ें:

कानपुर: महिला ने पति पर लगाया तीन तलाक और पिटाई से गर्भपात का आरोप

पुलिस पर हमले का आरोपी निकला कोरोना पॉजिटिव, थाना प्रभारी समेत 11 क्वारेंटाइन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading