जननी सुरक्षा और मातृ वंदना योजना को आधार से जोड़ा जाएगा: सीएम योगी

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 7, 2019, 9:36 PM IST
जननी सुरक्षा और मातृ वंदना योजना को आधार से जोड़ा जाएगा: सीएम योगी
उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने विपक्षमुक्त बनाने का प्लान पर अमल शुरू कर दिया है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शनिवार को कहा कि जननी सुरक्षा और मातृ वंदना योजना को आधार (Aadhaar) से जोड़ा जाएगा.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शनिवार को कहा कि जननी सुरक्षा और मातृ वंदना योजना को आधार (Aadhaar) से जोड़ा जाएगा. सीएम ने यहां अपने सरकारी आवास पर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani), केंद्रीय अधिकारियों और विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान कहा कि जननी सुरक्षा और मातृ वंदना स्कीमों को आधार से जोड़ने की योजना है.

उन्होंने कहा कि मौजूदा तंत्र का बेहतर ढंग से उपयोग किए जाने की आवश्यकता है. आंगनबाड़ी कर्मियों आदि को परफॉरमेंस बेस्ड (प्रदर्शन आधारित) भुगतान शुरू होने से कार्य की गुणवत्ता में सुधार हुआ है. स्वास्थ्य विभाग को नीति आयोग को आंकड़ों के ठीक ढंग से रिपोर्टिंग के निर्देश देते हुए सीएम ने कहा कि महिला सुरक्षा को लेकर जिला स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाएं. उन्होंने प्रदेश में चल रहे अल्ट्रासाउण्ड सेंटर्स की जांच के भी निर्देश दिए. उन्होंने आयुष्मान भारत के गोल्डन कार्ड को महिलाओं से जोड़ने के भी निर्देश दिए.

केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने प्रदेश में पोषण अभियान के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की. साथ ही केंद्र सरकार की प्राथमिकताओं से अवगत कराया, अपनी अपेक्षा के बारे में बताया और जरूरी निर्देश दिए.

राज्य सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक स्मृति ने कहा कि पोषण योजनाएं आंगनबाड़ी केंद्रों के जरिए प्रभावी ढंग से चलाई जानी हैं. आंगनबाड़ी केंद्रों में पेयजल व्यवस्था और शौचालय की सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जाए. अति कुपोषित व कुपोषित बच्चों को उचित पुष्टाहार प्राप्त हों, जिससे वे सामान्य श्रेणी में आ सकें. पौष्टिक आहार के लिए कैलेंडर बनाया जाए और इसे जनप्रतिनिधियों के साथ शेयर किया जाए.

बैठक में महिला कल्याण, बाल विकास एवं पुष्टाहार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाती सिंह, मुख्य सचिव आर के तिवारी, प्रमुख सचिव (मुख्यमंत्री) एस पी गोयल, प्रमुख सचिव (चिकित्सा) देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव महिला कल्याण मोनिका एस गर्ग सहित वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे.
ये भी पढ़ें-

बच्चा चोरी की अफवाह में भीड़ ने महिला समेत 3 को पीटा, पुलिस ने बचाई जान
Loading...

बिहार: 7 नवंबर को होगी STET परीक्षा, 9 से 18 सितंबर तक करें आवेदन

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 7, 2019, 9:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...