लाइव टीवी

जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को पर्यावरण मंत्रालय से मिली मंजूरी

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 7, 2020, 11:59 AM IST
जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को पर्यावरण मंत्रालय से मिली मंजूरी
जेवर अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट को पर्यावरण मंत्रालय से मंजूरी मिल गई है.

यूपी सरकार में मुख्यमंत्री कार्यालय में प्रमुख सचिव एसपी गोयल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. बता दें इससे पहले जेवर हवाईअड्डे (Jewar Airport) के विकास का अनुबंध देने के लिए स्विट्जरलैंड की कंपनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल (Zurich Airport International) को चुना गया है.

  • Share this:
लखनऊ. जेवर (Jewar) में बन रहे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (NOIDA International Airport) को पर्यावरण मंत्रालय से मंजूरी मिल गई है. यूपी सरकार में मुख्यमंत्री कार्यालय में प्रमुख सचिव एसपी गोयल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. बता दें इससे पहले जेवर हवाईअड्डे (Jewar Airport) के विकास का अनुबंध देने के लिए स्विट्जरलैंड की कंपनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल (Zurich Airport International) को चुना गया है. इसके लिए जारी अंतराष्ट्रीय निविदा में इस कंपनी ने दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) और अडाणी एंटरप्राइजेज और एंकरेज इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट होल्डिंग्स लिमिटेड जैसी कंपनी को पीछे छोड़ दिया. स्विट्जरलैंड की कंपनी ने राजस्व में हिस्सेदारी के मामले में प्रति यात्री सबसे ऊंची बोली लगाई.

29,560 करोड़ रुपए आंकी गई है इसकी अनुमानित लागत
दावा है कि निर्माण पूरा होने के बाद यह देश का सबसे बड़ा हवाईअड्डा होगा. अधिकारियों ने बताया कि स्विट्जरलैंड की कंपनी ने प्रति यात्री सबसे ऊंची बोली लगाई है. परियोजना के नोडल अधिकारी शैलेंद्र भाटिया ने कहा कि जेवर हवाईअड्डा या नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट जब पूरी तरह विकसित हो जाएगा तो यह 5,000 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला होगा. इसकी अनुमानित लागत 29,560 करोड़ रुपए आंकी गई है.

पहले से दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में मौजूद हैं दो एयरपोर्ट

जेवर हवाईअड्डा के लिए 30 मई को अंतरराष्ट्रीय निविदा जारी की गई थी. इस हवाईअड्डा के प्रबंधन के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने एक एजेंसी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (नायल) गठित की है. दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में बनने वाला यह तीसरा हवाईअड्डा पूरी तरह से नए सिरे से विकसित (ग्रीनफील्ड) किया जाएगा.

jevar1
प्रमुख सचिव एसपी गोयल का ट्वीट


जेवर हवाईअड्डे पर होंगी छह से आठ हवाई पट्टियांइससे पहले दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा और गाजियाबाद में हिंडन हवाईअड्डा मौजूद है. परियोजना के नोडल अधिकारी शैलेंद्र भाटिया ने बताया कि पूरी तरह बनकर तैयार होने के बाद जेवर हवाईअड्डे पर छह से आठ हवाई पट्टियां होंगी जो देश में अब तक किसी हवाई अड्डे की तुलना में सबसे अधिक होंगी.

ये भी पढ़ें:

सीएम योगी ने पूर्व वीसी सहित कई अफसरों के खिलाफ अभियोग की दी मंजूरी

संभल: कोतवाल से बदसलूकी के आरोप में सपा जिलाध्यक्ष सहित 50 के खिलाफ FIR

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्रेटर नोएडा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 11:59 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर