अलीगढ़ जहरीली शराब कांड: संयुक्त आबकारी आयुक्त आगरा समेत अलीगढ़ जोन के 2 अधिकारी निलंबित

संयुक्त आबकारी आयुक्त आगरा समेत अलीगढ़ जोन के 2 अधिकारी निलंबित (File photo)

संयुक्त आबकारी आयुक्त आगरा समेत अलीगढ़ जोन के 2 अधिकारी निलंबित (File photo)

अपर मुख्य सचिव (ACS) आबकारी संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि संयुक्त आबकारी आयुक्त, आगरा जोन की जगह धीरज सिंह को संयुक्त आबकारी आयुक्त, लखनऊ को अतिरिक्त प्रभार दिया गया.

  • Share this:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ (Aligarh) जिले में जहरीली शराब पीने से बड़ी संख्या में हुई मौतों के बाद हड़कंप मच गया है. जहरीली शराब कांड (Aligarh Hooch tragedy) के बाद भड़के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की नाराजगी के बाद सोमवार को उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव आबकारी संजय आर. भूसरेड्डी ने बड़ी कार्रवाई की है. संयुक्त आबकारी आयुक्त, आगरा जोन रवि शंकर पाठक एवं उप आबकारी आयुक्त, अलीगढ़ मंडल, पी. सिंह को भी तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. तथा विभागीय जांच के आदेश दिए गए है. इस मामले में दो अधिकारियों को मिलाकर अब तक 7 अधिकारियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की गई.

अपर मुख्य सचिव आबकारी संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि संयुक्त आबकारी आयुक्त, आगरा जोन की जगह धीरज सिंह को संयुक्त आबकारी आयुक्त, लखनऊ को अतिरिक्त प्रभार दिया गया. वहीं ओपी. सिंह की जगह विजय कुमार मिश्र, उप आबकारी आयुक्त को आगरा का अतिरिक्त प्रभार दिया गया. बता दें कि अलीगढ़ में पिछले शुक्रवार को जहरीली शराब पीने से मरने वालों की तादाद बढ़कर 25 हो गई है. वहीं, 28 लोगों की हालत अभी गंभीर बनी हुई है. जबकि पुलिस (Police) ने इससे संबंधित मुकदमे में वांछित 12 में से अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. इसके अलावा शराब के अवैध कारोबार में लिप्त छह अन्य लोग भी गिरफ्तार किए गए हैं.

यूपी में 203 गिरफ्तार, 9 वाहन जब्त

भूसरेड्डी ने बताया कि प्रदेश भर में 403 मुकदमे दर्ज किए गए हैं, जबकि अवैध शराब से जुड़े 203 लोगों को गिरफ्तार करने के साथ उनके 9 वाहनों को भी जब्त कर लिया गया है. साथ ही मिर्जापुर की एक सरकारी शराब की दुकान में बिना QR कोड के 53 पव्वे बरामद करके संबंधित शराब की दुकान का लाइसेंस निरस्त करते हुए संबंधित ठेकेदार के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्रवाई की जा रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज