जेपी नड्डा का दौरा क्या यूपी BJP में बड़े बदलाव का संकेत!

बीजेपी के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के दौरे को आने वाले 12 सीटों के उपचुनाव से नजरिए से महत्वपूर्ण समझा जा रहा है.

News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 10:39 AM IST
जेपी नड्डा का दौरा क्या यूपी BJP में बड़े बदलाव का संकेत!
BJP में एक बड़ा बदलाव का संकेत!
News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 10:39 AM IST
लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीते के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा यूपी के दौरे पर हैं. नड्डा के दौरों को लेकर एक बड़े बदलाव को ओर इशारा कर रही है. कोर कमेटी की बैठक तो एक बानगी है. असल में पार्टी और संगठन के बीच तालमेल और मंत्रिमंडल विस्तार अहम मुद्दा है. वहीं यूपी बीजेपी अध्यक्ष के नाम को लेकर अंतिम मुहर लगेगी. यूपी बीजेपी के प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने न्यूज़18 से बातचीत में बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाते उनका यह पहला दौरा था.

उन्होंने बताया कि अलग-अलग मुद्दों पर बातचीत और चर्चा हुई है. बीजेपी प्रवक्ता ने बताया कि आने वाले उपचुनाव में कैसे जीत दर्ज की जाए उसपर रणनीति तय की गई है. त्रिपाठी ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार और यूपी बीजेपी अध्यक्ष के नाम पर अंतिम फैसला केंद्रीय नेतृत्व पर निर्भर है.

क्या बोले जेपी नड्डा

बता दें कि जेपी नड्डा लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश के प्रभारी थे. कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने के बाद शुक्रवार को उनका पहला लखनऊ दौरा था. उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं ने जनता के बीच अथक परिश्रम कर, पार्टी के पक्ष में वातावरण तैयार कर, उसे वोट में तब्दील करने का काम किया है, परिणाम स्वरूप हमने उत्तर प्रदेश में ऐतिहासिक जीत दर्ज की. नड्डा ने कहा कि प्रदेश में जातिवादी, वंशवादी और छोटी सोच के साथ राजनीति करने वालों के ताबूत में हम आखिरी कील ठोकने में सफल रहे.

बीजेपी नेताओं की बैठक को संबोधित करते जेपी नड्डा


मंत्रिमंडल पुनर्गठन 

बता दें कि मंत्रिमंडल पुनर्गठन का काम भी लगभग एक सप्ताह में हो जाएगा, जिसके बाद मंत्रिमंडल में फेरबदल होगा. सूत्रों के मुताबिक मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर भी राष्ट्रीय अध्यक्ष से चर्चा हुई है. माना जा रहा है कि बीजेपी जातीय और क्षेत्रीय संतुलन को ध्यान मे रखते हुए मंत्रिमंडल में फेरबदल कर सकती है. पार्टी के रणनीतिकार चाहते हैं कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में यूपी से शामिल होने वाले चेहरों के मद्देनजर प्रदेश कैबिनेट का पुनर्गठन कर क्षेत्रीय और जातीय प्रतिनिधित्व का संतुलन साधा जाए.
Loading...

मंत्रियों की छुट्टी

बीजेपी ने 2017 के विधानसभा चुनाव में भले ही 325 सीटों पर जीत दर्ज की हो, लेकिन मई में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में केवल 281 जगहों पर ही जीत पाई है. ऐसे में जिन संसदीय क्षेत्रों में पार्टी का प्रदर्शन अच्छा नहीं हुआ है, वहां के मंत्रियों की छुट्टी हो सकती है. मुख्यमंत्री नियमित तौर पर मंत्रियों के उनके विभागों में प्रदर्शन का आकलन कर रहे हैं और यह एक दूसरा कारण होगा मंत्रिमंडल में फेरबदल का.

ये भी पढ़ें:

जानिए क्या हैं पीएम मोदी का काशी प्रेम, देश में जगाएंगे एक नई अलख

सपा नेता धर्मेंद्र यादव ने BJP सांसद संघमित्रा के निर्वाचन को दी चुनौती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 6, 2019, 10:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...