ज्योतिरादित्य सिंधिया का दावा, यूपी में वर्करों के दम पर चुनाव लड़कर शीर्ष स्थान पर होगी पार्टी

कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लखनऊ में कहा कि, “कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता पूरी निष्ठा एवं समर्पण के साथ चुनावी यु़द्ध में उतरने के लिए तैयार है. हम उत्तर प्रदेश में न केवल पूरी मुस्तैदी से चुनाव लड़ेंगे बल्कि शीर्ष स्थान भी प्राप्त करेंगे."

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 13, 2019, 8:16 PM IST
ज्योतिरादित्य सिंधिया का दावा, यूपी में वर्करों के दम पर चुनाव लड़कर शीर्ष स्थान पर होगी पार्टी
ज्योतिरादित्य सिंधिया (फाइल फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: February 13, 2019, 8:16 PM IST
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लखनऊ में मीडियाकर्मियों से संवाद करते हुए कहा कि किसी भी राजनीति दल की रीढ़ आम कार्यकर्ता होता है. आज आवश्यकता है कि हम अपने जमीनी कार्यकर्ताओं की पीड़ा को समझकर उसका निदान करें. जब तक हम उनके मन को नहीं पढ़ पाएंगे तब तक चुनावी युद्ध में विजय प्राप्त करना मुश्किल होगा. सिंधिया ने कहा कि, “हम लोगों ने यह निर्धारित किया है कि सबसे पहले मैं एवं प्रियंका गांधी सभी लोकसभा क्षेत्रों के प्रमुख कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों से मुलाकात करेंगे, उनके सुझावों को सुनेंगे और उसके आधार पर हम जमीनी कार्ययोजना तैयार करेंगे."

सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के 41 लोकसभा क्षेत्रों की जिम्मेदारी प्रियंका गांधी वाड्रा को एवं 39 लोकसभा क्षेत्रों की जिम्मेदारी मुझे दी है. 12 फरवरी को हमने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 11 लोकसभा क्षेत्रों सहारनुपर, कैराना, मुजफरनगर, बिजनौर, रामपुर, मुरादाबाद, नगीना, संभल, अमरोहा, मेरठ एवं बागपत के कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों से मुलाकात की.

इसके साथ ही 13 फरवरी को 12 लोकसभा क्षेत्रों बुलंदशहर, हाथरस, आगरा, फतेहपुर सीकरी, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, बरेली, हरदोई, कानपुर एवं अकबरपुर के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पदाधिकारियों से व्यक्तिगत चर्चा करके जमीनी सच्चाई को समझने का प्रयास किया है. कार्यकर्ताओं ने जो सुझाव दिया है, जमीनी हकीकत बयां की है, उसके आधार पर मंथन करके ठोस रणनीति तैयार की जाएगी.



कांग्रेस महासचिव ने कहा कि अभी तक की मुलाकात से यह स्पष्ट है कि कांग्रेस एक नए जोश एवं संकल्प के साथ चुनावी मैदान में उतरने के लिए तैयार है, जिसका संकेत 11 फरवरी को एयरपोर्ट से उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी तक हुए रोड शो से मिल चुका है. कांग्रेस के कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों ने ही नहीं वरन उत्तर प्रदेश की आम जनता ने जिस गर्मजोशी एवं उत्साह के साथ स्वागत किया है उसके लिए वे दिल से आभारी हैं. यह उत्साह इस बात की बानगी है कि आने वाला समय कांग्रेस का होगा.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लखनऊ में कहा कि, “कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता पूरी निष्ठा एवं समर्पण के साथ चुनावी यु़द्ध में उतरने के लिए तैयार है. हम उत्तर प्रदेश में न केवल पूरी मुस्तैदी से चुनाव लड़ेंगे बल्कि शीर्ष स्थान भी प्राप्त करेंगे." उत्तर प्रदेश पंडित मोती लाल नेहरू, पंडित जवाहर लाल नेहरू, पंडित गोविंद बल्लभ पंत, लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी की कर्म स्थली रही है. हमारे इन महापुरूषों ने देश ही नहीं विश्व में भारत का परचम लहराया है. कांग्रेसी इनसे प्रेरणा लेकर आगे बढ़ेंगे.

सिंधिया ने आगे कहा कि, “सोनिया गांधी के मार्गदर्शन, राहुल गांधी के योग्य नेतृत्व में जिस प्रकार से अभी हाल ही में हमने एमपी, राजस्थान एवं छत्तीसगढ़ में विजयश्री का वरण करके कांग्रेस की सरकार स्थापित की है, उसी प्रकार से 2019 के लोकसभा चुनाव एवं 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस जरूर सफलता प्राप्त करेगी.”

सिंधिया ने बताया कि कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं में उत्साह का सुबूत यह है कि वे हमारे साथ पूरी रात जागकर चर्चा कर रहे हैं, फीडबैक दे रहे हैं, अपने अमूल्य सुझाव दे रहे हैं. सिंधिया ने बताया कि इसी कड़ी में वे 14 फरवरी को 12 लोकसभा क्षेत्रों के कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों से मुलाकात करेंगे, जिसमें आंवला, पीलीभीत, शाहजहापुर, खीरी, फर्रूखाबाद, इटावा, कन्नौज, धौरहा, सीतापुर, मिसरिख, बहराइच एवं श्रावस्ती लोकसभा क्षेत्रों के कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों से मुलाकात करेंगे.
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर