Home /News /uttar-pradesh /

कमलेश तिवारी हत्याकांड: बड़े शातिर थे आरोपी, ट्रेन में छोड़ दिया मोबाइल, शहर-शहर दौड़ती रही पुलिस

कमलेश तिवारी हत्याकांड: बड़े शातिर थे आरोपी, ट्रेन में छोड़ दिया मोबाइल, शहर-शहर दौड़ती रही पुलिस

मोबाइल ट्रेन में छोड़कर यूपी पुलिस को शहर शहर भगाते रहे हत्यारोपी.

मोबाइल ट्रेन में छोड़कर यूपी पुलिस को शहर शहर भगाते रहे हत्यारोपी.

यूपी पुलिस (UP Police) हत्‍यारोपियों के मोबाइल (Mobile) नेटवर्क के पीछे भागती रही. वहीं, ट्रेन में रखे मोबाइल को किसी और ने उठा लिया और सिम बदलकर उसका इस्तेमाल करने लगा.

    लखनऊ. हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder Case) के मुख्‍य आरोपी शेख अशफाक हुसैन और पठान मोइनुद्दीन अहमद चार दिनों तक यूपी पुलिस (UP Police), एटीएस और एसटीएफ को बड़े ही शातिराना तरीके से चकमा दे रहे थे. हत्या के बाद शहर-शहर घूम रहे हत्‍यारोपी की लास्ट लोकेशन अंबाला में मिली थी. इसके बाद पुलिस को उनके बाघा बॉर्डर से पाकिस्तान भागने की आशंका हुई, लेकिन गिरफ़्तारी के बाद दोनों ने खुलासा किया कि वे अंबाला गए ही नहीं थे. पुलिस को चकमा देने के लिए उन्होंने ट्रेन में ही मोबाइल छोड़ दिया था.

    यूपी पुलिस हत्‍यारोपियों के मोबाइल नेटवर्क के पीछे भागती रही, लेकिन ट्रेन में रखे मोबाइल को किसी और ने उठा लिया. इसके बाद जिसे वह मोबाइल मिला उसने सिम बदलकर उसका इस्तेमाल शुरू कर दिया. इस बीच, मोबाइल के आईईएमआई नंबर के सहारे मोबाइल पाने वाले को लोकेट करती रही. इतना ही नहीं यूपी पुलिस दोनों को शाहजहांपुर और बरेली में खोजती रही. इस बीच दोनों आरोपियों को समय मिला और वे गुजरात-राजस्थान बॉर्डर पर पहुंच गए, जहां से गुजरात एटीएस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया.

    हत्यारोपी की पत्नी से गुजरात एटीएस को मिली लोकेशन

    जिस मोबाइल लोकेशन के जरिए यूपी पुलिस हत्यारोपियों की गिरफ़्तारी और उनके लोकेशन ट्रेस करने का दावा कर रही थी, वह फेल हो गया. इस बीच, गुजरात एटीएस दोनों आरोपियों के परिजनों को ट्रेस कर रही थी. गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने बताया कि दोनों के पास पैसे खत्म हो गए थे. दोनों ने पैसे के लिए दोस्तों और घरवालों से संपर्क किया, लेकिन पुलिस की सख्ती के वजह से किसी ने पैसा ट्रांसफर नहीं किया. इस बीच नकद पैसा लेने के लिए वे गुजरात में घुसना चाह रहे थे. एटीएस को आरोपी की पत्नी के ज़रिए इसकी खबर लग गई और उन्हें राजस्थान बॉर्डर के करीं शामलजी से गिरफ्तार कर लिया गया.

    (इनपुट: अजीत प्रताप सिंह)

    ये भी पढ़ें:

    NCRB के आंकड़ों पर बोले योगी के मंत्री- जनसंख्या अधिक तो अपराध की संख्या भी

    कमलेश तिवारी हत्याकांड: हत्यारोपियों ने गुनाह कबूला, हत्या के पीछे बताई ये वजह

    Tags: Kamlesh tiwari, Kamlesh Tiwari Murder, Up crime news, Up news in hindi, UP police

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर