लाइव टीवी

कमलेश तिवारी हत्याकांड: हत्यारोपियों के मददगार मौलाना कैफी अली रिजवी को मिली जमानत

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 4, 2019, 7:54 AM IST
कमलेश तिवारी हत्याकांड: हत्यारोपियों के मददगार मौलाना कैफी अली रिजवी को मिली जमानत
कोर्ट में यह दलील दी गई कि जिन धाराओं में मौलाना पर मामला दर्ज किया गया है वे जमानती हैं. (कमलेश का फाइल फोटो)

आरोपी मौलाना कैफी अली रिजवी पर आरोप है कि उसने 18 अक्टूबर 2019 को कमलेश तिवारी की हत्या (Murder) किए जाने के बाद हत्यारोपी अशफाक और मोईनुद्दीन को घर में शरण दी थी. साथ ही दोनों को आर्थिक मदद (Financial Help) देने के साथ ही इलाज भी करवाया था.

  • Share this:
लखनऊ. हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) के हत्यारोपियों (Murder Accused) के मददगार बरेली (Bareilly) के मौलाना कैफी अली रिजवी (Maulana Kaifi Ali Rizvi) को प्रभारी सीजेएम कोर्ट ने जमानत दे दी है. प्रभारी मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सुदेश कुमार ने 20-20 हजार रुपये की दो जमानतें एवं निजी मुचलका दाखिल करने पर मौलाना कैफ़ी अली को रिहा करने का आदेश दिया है.

हत्यारोपियों की मदद का आरोप
आरोपी मौलाना कैफी अली रिजवी पर आरोप है कि उसने 18 अक्टूबर 2019 को कमलेश तिवारी की हत्या किए जाने के बाद हत्यारोपी अशफाक और मोईनुद्दीन को घर में शरण दी थी. इतना ही नहीं उसने आरोपियों को आर्थिक मदद के साथ इलाज भी कराया था. मामले की जांच कर रही एसआइटी ने साक्ष्य के आधार पर मौलाना को 22 अक्टूबर को बरेली से गिरफ्तार किया था. मामले में साजिशकर्ता सहित आधा दर्जन आरोपित जेल में है.

मौलाना के तरफ से पेश हुए वकील ने कोर्ट में तर्क दिया कि जिस आरोप में उसे गिरफ्तार किया गया है वह सभी जमानती हैं. लिहाजा उसके मुवक्किल को जमानत पर रिहा किया जाए. जिसके बाद प्रभारी मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सुदेश कुमार ने 20-20 हजार रुपये की दो जमानतें एवं निजी मुचलका दाखिल करने पर रिहाई के आदेश दिए.


ये भी पढ़ें: झारखंड के नक्‍सली संगठन ने दी उत्तर प्रदेश के राजभवन को बम से उड़ाने की धमकी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 7:42 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर