लाइव टीवी

खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का हथियार सप्लायर यूपी एटीएस ने किया गिरफ्तार

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 1, 2020, 4:17 PM IST
खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का हथियार सप्लायर यूपी एटीएस ने किया गिरफ्तार
यूपी एटीएस ने पंजाब से वांछित हथियार सप्लायर मेरठ के आशीष कुमार को गिरफ्तार किया है.

एटीएस के अनुसार आशीष कुमार खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (KLF) के शीर्ष नेता हरमीत सिंह उर्फ हैप्पी पीएचडी के करीबी सहयोगी गुगनी ग्रेवाल को हथियार सप्लाई करता था.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉड (UP ATS) ने शनिवार को पंजाब से वांछित हथियार सप्लायर मेरठ (Meerut) के आशीष कुमार को गिरफ्तार किया है. एटीएस के अनुसार आशीष मेरठ के जानी थाना क्षेत्र के टीकरी गांव का रहने वाला है और वर्तमान में रुड़की के सिविल लाइन इलाके में रह रहा था. एटीएस के अनुसार मोहाली, पंजाब के एक केस में वह वांछित था. गिरफ्तार अभियुक्त को पंजाब पुलिस (Punjab Police) के सुपुर्द कर दिया गया है.

एटीएस के अनुसार आशीष कुमार खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (KLF) के शीर्ष नेता हरमीत सिंह उर्फ हैप्पी पीएचडी के करीबी सहयोगी गुगनी ग्रेवाल को हथियार सप्लाई करता था. एटीएस के अनुसार हरमीत सिंह अमृतसर का निवासी है और पिछले दो साल से पाकिस्तान में रह रहा है. अगस्त 2016 में उस पर आरएसएस के नेता ब्रिगेडियर रिटायर्ड जगदीश कुमार गगनेजा की हत्या में नाम सामने आया था.
एटीएस के अनुसार हरमीत की डेरा चाहेल गुरुद्वारा, लाहौर पाकिस्तान में हत्या कर दी गई है.

कई बार सप्लाई की पिस्टल

पूछताछ में आशीष ने बताया कि 2009 में अपनी मौसी के लड़के बिट्टू के साथ अवैध शराब स्मगलिंग में जेल गया था. यहीं पटियाला जेल में उसकी मुलाकात गुगनी, सुखवीर सिंह उर्फ सुक्खा, रिची और हैप्पी से हुई. 2014 में जेल से बाहर आने के बाद 3 पिस्टल उसने साहिल के माध्यम से सुखबीर को दीं. इसके बाद दो पिस्टल उसने सुक्खा को पैसे देकर खरीद करवाईं. इसके बाद भी वह लगातार पिस्टल गुगुनी को बेचता रहा है.

ये भी पढ़ें:

BUDGET 2020: किसानों, युवाओं के लिए मील का पत्थर साबित होगा ये बजट: सीएम योगीलखनऊ में कोरोना वायरस का मिला संदिग्ध मरीज, जांच के लिए पुणे लैब भेजे गए नमूने

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ (पंजाब) से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2020, 4:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर