Farmer Protest: अवध और पूर्वांचल में भी किसान महापंचायत की तैयारी, नरेश टिकैत होंगे शामिल

अवध और पूर्वांचल होगी किसान महापंचायत. (File)

अवध और पूर्वांचल होगी किसान महापंचायत. (File)

Kisan Andolan: केंद्र सरकार के कृषि कानून (Farm Law) को वापस लेने और समर्थन मूल्य का कानून बनाए जाने को लेकर यूपी में किसान महापंचायत का आयोजन किया जाएगा. 24 फरवरी को बाराबांकी और 25 फरवरी को बस्ती में किसान महापंचायत होगा. 

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2021, 7:28 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. केंद्र सरकार के कृषि कानूनों (Farmer Law) के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन के दायरे को पश्चिमी यूपी से बढाकर प्रदेश के अन्य हिस्सों में पहुंचाने के लिए अब अवध और पूर्वांचल में भी किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) करने की तैयारी हो रही है. भारतीय किसान यूनियन ने 24 फरवरी को बाराबंकी और 25 फरवरी को बस्ती में महापंचायत आयोजित करने की घोषणा की. यूपी के बाराबंकी में 24 फरवरी को किसान महापंचायत होगी.

तीन कृषि कानून की वापसी और न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानून बनाए जाने को लेकर किसान महापंचायत का आयोजन किया जा रहा है. बाराबंकी के हैदरगढ़ रोड स्थित हरख चौराहे पर किसान महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत शामिल होंगे. इसके बाद 25 फरवरी को बस्ती के मुण्डेरवा में भी किसान महापंचयत में नरेश टिकैत बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे.

खाप पंचायतों का बड़ा ऐलान

किसान आंदोलन के समर्थन में बुधवार को रोहतक के जाट भवन में विभिन्न खाप पंचायतों के प्रतिनिधियों की एक महत्वपूर्ण मीटिंग हुई. इस दौरान किसानोंं को लेकर दिए गए हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल के बयान की निंदा की गई. बैठक में खाप पंचायतों ने जेपी दलाल के  सामाजिक बहिष्कार का भी फैसला लिया. गौरतलब हो कि कृषि मंत्री ने अपने एक बयान में कहा था कि किसानों की मौत बीमारी की वजह से हो रही है.  कृषि मंत्री जेपी दलाल द्वारा आंदोलनरत किसानों की मौत पर दिए गए विवादित बयान के बाद काफी हंगामा हुआ था. सरकार को घेरते हुए कांग्रेस ने प्रदर्शन भी किया था.
ये भी पढ़ें: चमोली आपदा: झील के नजदीक पहुंची ITBP, हेलीपैड बनाने की तैयारी, देखें VIDEO

खाप पंचायतों की बैठक में फैसला लिया गया कि संयुक्त किसान मोर्चा जो भी फैसला लेगा, खाप पंचायतें उसी का समर्थन करेंगी. इसके अलावा कोई भी खाप पंचायत अपनी तरफ से कोई भी निर्णय नहीं लेंगी. बुधवार को हुई में पंचायत में प्रदेशभर से 50 से ज्यादा खाप प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज