लाइव टीवी

बसों का बिल: यूपी सरकार ने किया पूरा भुगतान, राजस्थान के मंत्री बोले- डीजल का है बिल
Kota News in Hindi

News18Hindi
Updated: May 22, 2020, 12:27 PM IST
बसों का बिल: यूपी सरकार ने किया पूरा भुगतान, राजस्थान के मंत्री बोले- डीजल का है बिल
(प्रतीकात्मक फोटो)

यूपीएसआरटीसी (UPSRTC) के एमडी राजशेखर ने कहा कि अप्रैल के मध्य में लॉकडाउन में फंसे छात्रों को कोटा से घर वापस पहुंचाने की कवायद की गई थी. मौके पर संख्या ज्यादा हो गई. हमने राजस्थान रोडवेज से आग्रह कर मथुरा और आगरा तक बच्चों को ड्रॉप करने को कहा था. इसी का बिल राजस्थान रोडवेज द्वारा दिया गया था, इसका भुगतान हमने कर दिया है.

  • Share this:
लखनऊ. कांग्रेस (Congress) और यूपी सरकार (UP Government) के बीच प्रवासी मजदूरों (Migrant Laborers) को लेकर 1000 बसों की सियासत अभी थमी नहीं थी कि बसों से जुड़ा एक और मामला चर्चा में आ गया. कांग्रेस की अगुआई वाली राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) ने योगी सरकार को 36 लाख रुपये का बिल भेजा है. ये बिल उन बसों का बताया गया, जिनसे पिछले दिनों कोटा से बच्चे लाकर यूपी की सीमा पर पहुंचाए गए थे. राजस्थान सरकार ने जल्द भुगतान का निवेदन भी किया. इस पत्र के बाद बीजेपी जहां हमलावर है, वहीं राजस्थान के परिवहन मंत्री ने कहा है कि ये डीजल का पैसा है, जो हमने यूपी की बसों में डलवाया था. जिसके बाद ताजा खबर ये है कि यूपी सरकार ने राजस्थान सरकार को पूरी राशि का भुगतान कर दिया है.

पहले 19.76 लाख का डीजल भुगतान
जानकारी के अनुसार यूपीएसआरटीसी की तरफ से पहले राजस्थान रोडवेज की तरफ से पेश किए गए डीजल के 19.76 लाख के बिल का भुगतान किया गया था. अब राजस्थान सरकार के 36.36 लाख के बिल का भुगतान कर दिया गया है. ये बिल कोटा से आगरा/मथुरा तक लॉकडाउन में छात्रों को पहुंचाने में लगी 70 बसों का भेजा गया था.

यूपीएसआरटीसी के एमडी राजशेखर ने कहा कि अप्रैल के मध्य में लॉकडाउन में फंसे छात्रों को कोटा से घर वापस पहुंचाने की कवायद की गई थी. शुरुआत में हमारा अनुमान 8 से 10 हजार छात्रों के फंसे होने का था. लेकिन मौके पर संख्या ज्यादा निकली. इस दौरान हमने राजस्थान रोडवेज से आग्रह कर मथुरा और आगरा तक बच्चों को ड्रॉप करने को कहा था. इसी का बिल राजस्थान रोडवेज द्वारा दिया गया था, इसका भुगतान हमने कर दिया है.



किलोमीटर के हिसाब से बना बिल


राजस्थान राज्य पथ परिवहन, मुख्यालय जयपुर में कार्यकारी निदेशक, यातायात एमपी मीना की तरफ से प्रबंध निदेशक, उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम को भेजे गए पत्र में ये बिल भेजा गया था. उन्होंने लिखा है कि राजस्थान राज्य परिवहन निगम द्वारा 17 से 19 अप्रैल तक कोटा में अध्ययनरत छात्रों को उत्तर प्रदेश के फतेहपुर सीकरी (आगरा) व झांसी तक पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था कर परिवहन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है. इसका तिथिवार विवरण, संचालित किलोमीटर और भुगतान योग्य राशि 36 लाख 36 हजार 664 रुपये का विवरण भेजा गया था. भुगतान अभी तक प्राप्त नहीं हुआ है. ये सुविधा उपलब्ध कराने के एवज में निगम खाते में धनराशि आरटीजीएस के माध्यम से अविलंब भुगतान कराने का कष्ट कराएं.

बीजेपी हमलावर
उधर इस पत्र के बाद बीजेपी ने जहां कांग्रेस सरकार पर हमला बोला है. पार्टी के प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन ने राजस्थान सरकार और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को घेरा है. वहीं खबर है कि योगी सरकार ने बिल का पूरा भुगतान कर दिया है.

राजस्थान के परिवहन मंत्री ने ट्वीट कर दिया ये जवाब
उधर इस मामले को लेकर मच रहे बवाल के बाद राजस्थान सरकार के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास (Pratap Singh Khachariwas) ने ट्वीट कर इसे झूठ और फरेब की राजनीति करार दिया है. खाचरियावास ने किराया विवाद का खंडन करते हुए अपने ट्वीट के साथ उस पत्र व्यवहार को भी लोगों के सामने रखा जो कोटा से छात्रों की वापसी को लेकर उत्तर-प्रदेश सरकार ने राजस्थान सरकार से किया था. खाचरियावास ने ट्वीट के जरिये बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा पर निशाना साधते हुए कहा कि आप झूठ बोल रहे हैं. जिन पैसों की आप बात कर रहे हैं यह उत्तर प्रदेश की बसें जब राजस्थान आई थीं, तब उत्तरप्रदेश के परिवहन अधिकारियों ने राजस्थान परिवहन के अधिकारियों से निवेदन किया. फिर हमने उत्तर प्रदेश की बसों में डीज़ल डलवाया था, उसका है.



श्रमिक बसें प्रतिदिन फ्री चल रही हैं
खाचरियवास ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा कि राजस्थान सरकार ने 2 करोड़ 6 लाख रुपये ख़र्च करके हाथरस और आगरा तक यूपी के मज़दूरों को पहुंचाया है. हमारी श्रमिक बसें प्रतिदिन चल रही हैं, जो कि निशुल्क है. झूठ की राजनीति करने के बजाय पूरे देश में मज़दूर दर्द से परेशान है, उधर ध्यान दो.

ये भी पढ़ें:-

राजस्थान सरकार की बसों के बिल को लेकर प्रियंका पर हमलावर हुई BJP

राजस्थान ने योगी सरकार को थमाया 36 लाख रुपये का बिल, जानें मामला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 22, 2020, 10:50 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading