COVID-19: लखनऊ के कैसरबाग की मरकजी मस्जिद में मिले किर्गिस्तान और कजाकिस्तान के नागरिक

लखनऊ के कैसरबाग इलाके में एक मस्जिद में कई विदेशी नागरिक मिले हैं, इनकी मेडिकल जांच की जा रही है
लखनऊ के कैसरबाग इलाके में एक मस्जिद में कई विदेशी नागरिक मिले हैं, इनकी मेडिकल जांच की जा रही है

सभी विदेशी नागरिकों की मेडिकल जांच कराई जा रही है. इन्हें आइसोलेशन में रखा जा रहा है. यही नहीं लखनऊ (Lucknow) के मड़ियांव और काकोरी इलाके की मस्जिदों में भी कई विदेशी नागरिकों के रुके होने की खबर है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) से बड़ी खबर आ रही है. यहां लॉक डाउन (Lockdown) के बीच कैसरबाग इलाके में स्थित एक मरकज़ी मस्जिद (Markazi Mosque) में पुलिस कमिश्नर, कमिश्नर और डीएम पहुंचे हैं. पता चला है कि इस मरकजी मस्जिद में पिछले 13 मार्च से कई विदेशी नागरिक रुके हुए हैं. ये किर्गिस्तान और कजाकिस्तान के नागरिक बताए जा रहे हैं. पता चला कि ये विदेशी नागरिक एक धार्मिक जलसे में भाग लेने आए थे खुफिया और एलआईयू की सूचना के बाद पुलिस प्रशासन की टीमें मस्जिद पहुंच गई हैं.

जानकारी के अनुसार सभी विदेशी नागरिकों की मेडिकल जांच कराई जा रही है. इन्हें आइसोलेशन में रखा जा रहा है. यही नहीं मड़ियांव और काकोरी इलाके की मस्जिदों में भी कई विदेशी नागरिकों के रुके होने की खबर है. मंडियांव में 17 बांग्लादेशी नागरिकों के रुके होने की सूचना है. आपको बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में विदेशी नागरिकों के शामिल होने का मामला सामने आने के बाद विभिन्न राज्यों की पुलिस सतर्क हो गई है. बताया जा रहा है कि निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल होने आए ये लोग लॉकडाउन के ऐलान के बाद अलग-अलग राज्यों की ओर चले गए हैं.

मरकज से नहीं लौटे 20 लोग



उधर, पुलिस  प्रशासन दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज के आयोजन में शामिल हुए लोगों की तलाश कर रहा है. सूचना मिली थी कि तब्लीगी जमात में लखनऊ के 20 लोग शामिल हुए थे. पुलिस सूत्रों के अनुसार पता चला है कि ये 20 लोग अभी तक लखनऊ नहीं लौटे हैं, ये अभी नई दिल्ली में ही हैं.
वहीं प्रयागराज मंडल से भी 11 लोगों शामिल होने की सूचना थी. इनमें 8 प्रयागराज और 3 लोग प्रतापगढ़ से शामिल हुए थे. आईजी जोन प्रयागराज केपी सिंह ने एलआईयू जांच में पाया है कि सभी लोग जमात के बाद से दिल्ली में ही ठहरे हुए हैं. उन्होंने कहा कि जमात में शामिल लोगों के यहां न आने से कोरोना का फिलहाल कोई खतरा नहीं है. बता दें रिपोर्ट के मुताबिक यूपी के करीब 157 लोग पुलिस ने चिन्हित किए हैं, जो इस जमात में शामिल हुए थे.

इनपुट: ऋषभ मणि त्रिपाठी

ये भी पढ़ें:

निजामुद्दीन मरकज़: UP के 19 शहरों में सर्च अभियान, दौरा रद्द कर लखनऊ लौटे CM

निजामुद्दीन मरकज: मौलाना खालिद रशीद की अपील- लोग खुद बाहर आकर जांच कराएं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज