• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • अगर आपको अपनी पुश्तैनी जमीन की चिंता है तो अब भूल जाएं

अगर आपको अपनी पुश्तैनी जमीन की चिंता है तो अब भूल जाएं

पनी पुस्तैनी जमीन की चिंता सता रही है तो अब आप खुश हो जाइए

पनी पुस्तैनी जमीन की चिंता सता रही है तो अब आप खुश हो जाइए

अब आप दिल्ली (Delhi), पंजाब (Punjab) या फिर मुंबई (Mumbai) में बैठे-बैठे ही अपनी जमीन के मालिकाना हक (Owner's Right) के साथ-साथ और जानकारी (Information) हासिल कर सकते हैं.

  • Share this:
    अगर आप नौकरी-पेशा (Service Class) आदमी हैं और आपको अपनी पुश्तैनी जमीन (Ancestral Lands) की चिंता सता रही है तो अब आप खुश हो जाइए. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार ने आपकी यह चिंता दूर कर दी है. अब आप दिल्ली (Delhi), पंजाब (Punjab) या फिर मुंबई (Mumbai) में बैठे-बैठे अपनी जमीन का मालिकाना हक (Owner's Right) के साथ-साथ और जानकारी (Information) हासिल कर सकते हैं. अब आपको अपनी जमीन का नक्शा, जमीन के कागज सभी ऑनलाइन (Online) ही नजर आ जाएंगे. यहां तक की आप अपनी जमीन के कागजों का प्रिंट आउट (Print Out) भी निकाल सकते हैं.

    यूपी सरकार की वेबसाइट के जरिए जानकारी हासिल करें
    बीते दिनों ही यूपी सरकार ने एक वेबसाइट शुरू की है, जिसमें सभी जिलों की जमीन के दस्तावेजों का डिजिटलीकरण कर दिया गया है. यूपी सरकार की शुरू की गई इस वेबसाइट UPBHUNAKSHA.GOV.IN पर क्लिक कर आप अपनी जमीन के बारे में पता कर सकते हैं. इसके लिए आपको इस वेबसाइट पर जाना पड़ेगा. जैसे ही वेबसाइट खुलेगी बायीं तरफ राज्य, जिला, तहसील और गांव का नाम लिखा आएगा.

    जमीन का क्षेत्रफल, खातेदार का नाम क्लिक करते ही आ जाएगा


    ठीक बायीं तरफ ही लैंड टाइप का ऑप्शन आएगा. इस ऑप्शन में देख पाएंगे कि जो जमीन आप देख रहे हैं वह किस टाइप की है. क्या वह जमीन कृषि योग्य है या बंजर है. आपकी जमीन अभी किसके अधिकार में है. ये सारी जानकारी आपको इस वेबसाइट के जरिए मिल जाएगी.

    जमीन से जुड़ी हर प्रकार की जानकारी
    आप देख सकते हैं कि जमीन का क्षेत्रफल, खातेदार का नाम क्लिक करते ही आ जाएगा. अब यूपी में खेती की जमीन से जुड़ा कुछ काम कराने के लिए राजस्व विभाग का चक्कर नहीं काटना पड़ेगा. लोगों को अक्सर खसरा-खतौनी की जरूरत पड़ती है. बात चाहे जमीन की रजिस्ट्री कराने की हो, किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने की हो या किसी अन्य सरकारी योजना का फायदा उठाने की, हर काम के लिए खसरा-खतौनी काम आते हैं.

    लोगों को पहले कागजातों ले से जुड़ी जानकारी पाने के लिए तहसील या फिर पटवारी के पास जाना पड़ता था.


    कुछ वक्त पहले तक इन कागजातों से जुड़ी जानकारी पाने के लिए लोगों को तहसील या फिर पटवारी के पास जाना पड़ता था. इसमें समय और पैसा दोनों खर्च होते थे. अब तकनीक की मदद से ये काम आसान हो गया है. अब इन कागजातों को आसानी से कम्प्यूटर पर देखकर आप अपना समय और पैसा दोनों बचा सकते हैं.

    कुल मिलाकर अब किसी भूखंड का नक्शा लेने के लिए अब आम आदमी, किसानों और बाहर नौकरी कर रहे लोगों को तहसील के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे. यूपी शासन के निर्देश पर अब हर जिले के सभी तहसीलों में लैंड रिकॉर्ड ऑनलाइन कर दिया गया है.

    ये भी पढ़ें: 

    आयुष्मान भारत योजना में आप ऐसे देख सकते हैं अपना नाम और ले सकते हैं फायदा

    जानिए AIIMS में लगी आग के दौरान पैदा हुए दो बच्चों की कहानी

    'छोटे सरकार' पर इतने दिनों तक क्यों थी 'सरकार' की अनंत कृपा?

    बेवजह नहीं है बढ़ती आबादी पर पीएम नरेंद्र मोदी की चिंता

    सावधान! मिलावटी निवाला खिलाया तो जिंदगी भर काटेंगे जेल, सख्त हुई मोदी सरकार

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज