Home /News /uttar-pradesh /

टूट की कगार पर खड़ी समाजवादी पार्टी में अब भी है सुलह की गुंजाईश!

टूट की कगार पर खड़ी समाजवादी पार्टी में अब भी है सुलह की गुंजाईश!

File Photo: PTI

File Photo: PTI

समाजवादी पार्टी और साइकिल चुनाव चिन्ह पर जब तक निर्वाचन आयोग का फैसला नहीं आ जाता तब तक सुलह की संम्भावना से इनकार नहीं किया जा सकता है.

समाजवादी पार्टी और साइकिल चुनाव चिन्ह पर जब तक निर्वाचन आयोग का फैसला नहीं आ जाता तब तक सुलह की संम्भावना से इनकार नहीं किया जा सकता है. चुनाव आयोग में पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी ने प्रदेश18 को बताया कि फैसला आने से पहले दोनों पक्ष यदि अपने-अपने दावे वापस ले लेते हैं तो पार्टी में टूट को रोका जा सकता है.

अखिलेश कैंप के विधायक सुनील सिंह साजन ने इसी ओर इशारा करते हुए प्रदेश18 को बताया कि उन्हें नेताजी (मुलायम सिंह यादव) की बातों पर पूरा भरोसा है.

बता दें कि सुनील साजन मुलायम सिंह के उस बयान का हवाला दे रहे हैं जिसमें मुलायाम ने कहा था कि वे समाजवादी पार्टी को न तो टूटने देंगे और न ही साइकिल चुनाव चिन्ह जाने देंगे.

दिल्ली से लौटने के बाद मुलयम सिंह के आवास पर चल रही मीटिंग के बाद किसी फैसले पर पहुंचने की उम्मीद अखिलेश खेमा कर रहा है. मुलायम सिंह अपने आवास पर बारी-बारी से विधायकों से मुलाकात कर रहे हैं. उनके साथ गायत्री प्रजापति भी मौजूद हैं. बताया जा रहा कि 100 के करीब लोग मुलायम आवास में मौजूद हैं..

हालांकि अभी तक कि स्थितियां पार्टी में टूट को जाहिर कर रही हैं, लेकिन दोनों खेमों में सुलह हो जाने और समाजवादी पार्टी को टूट से बचाने के लिए मुलायम की इस पहल की चर्चा लखनऊ में जोरों पर है.

इस बीच जानकारों का मानना है कि दोनों खेमों द्वारा चुनाव आयोग में पक्ष रखने के बाद अब इसकी उम्मीद बहुत ही कम है कि सुलह हो. जहां तक चुनाव आयोग की बात है तो वह समाजवादी पार्टी को फ्रीज कर दोनों को अलग-अलग ही सिंबल देगा, इसकी उम्मीद ज्यादा लग रही है.

गौरतलब है कि शुक्रवार को चुनाव आयोग ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित कर लिया था. चुनाव आयोग साइकिल चुनाव चिन्ह को लेकर अपना फैसला शनिवार शाम तक या फिर सोमवार को देगा.

Tags: लखनऊ

अगली ख़बर