लाइव टीवी

CAA मुद्दा: कानून के रखवाले कानून के दायरे से बाहर जा रहे हैं, स्वतंत्र जांच हो- स्वरा भास्कर
Lucknow News in Hindi

News18India
Updated: December 26, 2019, 3:49 PM IST
CAA मुद्दा: कानून के रखवाले कानून के दायरे से बाहर जा रहे हैं, स्वतंत्र जांच हो- स्वरा भास्कर
स्वरा भास्कर ने पुलिस कार्रवाई पर की टिप्णी (फाइल फोटो)

स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) ने कहा कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में लोगों के अधिकार छीन लिए गए हैं. पुलिस बल का प्रयोग कर रही है, लोगों को मारा-पीटा जा रहा है. मैं ऐसी घटना को निंदा करती हूं

  • News18India
  • Last Updated: December 26, 2019, 3:49 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. फिल्म अभिनेत्री स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद पुलिस कार्रवाई को लेकर बड़ा बयान दिया है. स्वरा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में लोगों के अधिकार छीन लिए गए हैं. पुलिस बल का प्रयोग कर रही है, लोगों को मारा-पीटा जा रहा है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रदर्शन (Demonstration) के दौरान ज्यादातर लोगों की जानें पुलिस की फायरिंग में गई है, क्योंकि इसमें नियमों का पालन नहीं किया गया. मैं ऐसी घटना को निंदा करती हूं.

स्वरा भास्कर ने कहा कि पश्चिम यूपी में बड़े पैमाने पर लोगों को बंदी बनाया जा रहा है. ऐसे में पुलिस की कार्रवाई को जायज नहीं ठहराया जा सकता है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बदला लेने वाली बात न्यायसंगत नहीं है. स्वरा के अनुसार, अगर किसी ने हिंसा की है तो उनके ऊपर कानून के तहत केस दर्ज किया जाना चाहिए. ऐसे में मैं भारतीय अदालतों से आवेदन करती हूं कि इसकी न्यायिक जांच की जाए. बॉलीवुड अभिनेत्री ने कहा कि कानून के रखवाले कानून के दायरे से बाहर जा रहे हैं. इसकी स्वतंत्र जांच होनी चाहिए.

बनारस में 57 लोग जेल में हैं
वहीं, सामाजिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव ने कहा कि बनारस में 57 लोग जेल में बंद हैं. बच्चों के साथ टॉर्चर हो रहा है. पुलिस लूटपाट कर रही है. दुकानें सील की जा रही हैं. उन्होंने कहा कि आरोपी पुलिसकर्मियों को तुरंत सस्पेंड किया जाना चाहिए. साथ ही मृतकों को मुआवजा दिया जाए. योगेंद्र यादव ने मांग करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक घोषणा करनी चाहिए कि NRC लागू नहीं किया जा रहा है, जिससे भय खत्म हो सके. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने कल कहा कि आत्मावलोकन की जरूरत है. ऐसे में प्रधानमंत्री को भी इसकी जरूरत है.



ये आतंकी राज है


योगेंद्र यादव ने कहा कि 'सबका साथ सबका विकास' में क्या वाकई सब लोग आते हैं. उन्होंने कहा कि यूपी में जो हो रहा है, वहां बराबर नागरिकता खत्म हो चुकी है. यादव के उनुसार, यूपी में 'रेन ऑफ टेरर' कहना होगा. ये आतंकी राज है. वर्दी वाले नहीं बल्कि उपर से आदेश है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने बदला शब्द इस्तेमाल किया. भारत का कोई कानून किसी को इजाजत नहीं दे रहा है कि बदला लिया जाए.

हाथ-पैर तोड़ने की बात कह रहे हैं
उनके अनुसार, बिजनौर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) संजीव त्यागी का ऑडियो वायरल हो रहा है. ऑडियो में वो सीधे हाथ-पैर तोड़ने की बात कह रहे हैं. योगेंद्र यादव ने कहा कि गांधीवादी लोगों को एक भी जुलूस निकालने की अनुमति नहीं मिली है. प्रोटेस्ट लीड करने वालों को अरेस्ट किया गया. पूर्व आईपीएस एसआर दारापुरी को अरेस्ट किया गया, जबकि वो कैंसर पीड़ित हैं. उसके बाद कहा जाता है भीड़ हिंसा कर रही है. इसके लिए कौन जिम्मेदार है.

अहिंसक प्रदर्शनों से सरकारों के रवैये में बदलाव आया है
बता दें कि पिछले हफ्ते मुंबई में विरोध-प्रदर्शन के दौरान स्वरा भास्कर ने कहा था कि 'हमने कई देशों में देखा कि अहिंसक प्रदर्शनों से सरकारों के रवैये में बदलाव आया है. अहिंसक प्रदर्शन करना हमारा संवैधानिक अधिकार है. सरकार को सेक्शन 144 लगाकर, इंटरनेट बैन कर, पुलिस की हिंसा द्वारा हमारे अधिकार को छीनने की कोशिश नहीं करनी चाहिए. हमारा देश इन्हीं अहिंसक प्रदर्शनों के चलते आजाद हुआ है.' उन्होंने कहा था कि 'मैं CAA और NRC का समर्थन नहीं करती हूं क्योंकि इन कानून के सहारे भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की संवैधानिक कोशिश है. ये कानून ना केवल संविधान के खिलाफ है बल्कि ये भारत की एक अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ भेदभाव करता है.'

 

ये भी पढ़ें- 

यूपी में ठंड का कहर: पिछले 48 घंटों में 38 लोगों की मौत

शपथग्रहण से पहले जानें कैसी रहेगी हेमंत कैबिनेट, कौन-कौन बन सकते हैं मंत्री?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 26, 2019, 3:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading