COVID-19: लॉकडाउन के बाद UP में 15 अप्रैल से शुरू होगी फूड डिलीवरी और ऑनलाइन रजिस्ट्री

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को राजस्थान के कोटा से लौटे छात्रों से बातचीत की. (फाइल फोटो)
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को राजस्थान के कोटा से लौटे छात्रों से बातचीत की. (फाइल फोटो)

कोरोना वायरस (COVID-19) से निपटने के लिए उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं. इसके तहत 15 अप्रैल से ऑनलाइन रजिस्ट्री और गेहूं खरीद की शुरुआत हो सकती है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (COVID-19) की रोकथाम में जुटी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की सरकार ने रविवार की रात बड़ा फैसला लिया. सीएम योगी की शीर्ष अधिकारियों के साथ हुई एक बैठक के बाद बताया गया कि 15 अप्रैल यानी लॉकडाउन समाप्त होने के बाद प्रदेश में ऑनलाइन कारोबार शुरू हो जाएगा. अधिकारियों के साथ हुई सीएम की बैठक में इस पर सहमति बन गई है. बताया गया कि 15 अप्रैल से यूपी में ऑनलाइन कारोबार शुरू हो सकते हैं. साथ ही प्रदेश के सभी जिलों में ऑनलाइन रजिस्ट्री की शुरुआत भी कर दी जाएगी. योगी सरकार की इस घोषणा के साथ ही अब यह साफ हो गया कि 15 अप्रैल से प्रदेश के सभी रेस्टोरेंट खाने की होम डिलीवरी का ऑनलाइन ऑर्डर ले सकेंगे.

सीएम योगी के साथ हुई बैठक में इस बात पर भी सहमति बनी है कि 15 अप्रैल से प्रदेश के सरकारी कार्यालयों में कामकाज शुरू हो जाएगा. इसी दिन योगी सरकार के सभी मंत्री अपने कार्यालयों में कामकाज संभाल लेंगे. शुरुआत में प्रमुख सचिव से लेकर अनुसचिव स्तर तक के अधिकारी ही कार्यालय में मौजूद रहेंगे.

15 अप्रैल से शुरू होगी गेहूं की खरीदॉ



इसके अलावा किसानों के लिए भी बड़ी खबर है. यूपी में 15 अप्रैल से ही गेहूं के खरीद की शुरुआत होने जा रही है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबंधित अधिकारियों को प्राथमिकता पर सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के दिए निर्देश दिए हैं.
यूपी के 41 जिलों में कोरोना का संक्रमण

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश में रविवार को कोविड-19 संक्रमितों की संख्या 480 हो गई. प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने रविवार को कहा कि राज्य के कुल 41 जिलों में रविवार तक कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 480 पाई गई है. उन्होंने बताया कि नमूनों की व्यवस्था में काफी प्रगति हुई है. शनिवार को 1,640 नमूनों की जांच की गई. शुरू में डेढ़ से दो सौ नमूनों की जांच रोज हो पा रही थी, जिसे बढ़ाकर 800 किया गया था. अब यह आंकड़ा 1,600 को पार कर गया है. जल्द ही 2,000 से अधिक नमूनों की जांच की सुविधा होगी.

ये भी पढ़ें-

लॉकडाउन के दौरान गर्लफ्रैंड से मिलने पहुंचा युवक, अब परिवार संग हुआ क्वारंटाइन

केंद्र सरकार के तर्ज पर योगी सरकार के मंत्री भी संभालेंगे मंत्रालय
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज