लोकसभा चुनाव 2019: UP की इन सीटों पर जनता को चुनना पड़ेगा बाहरी उम्मीदवार

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

कुछ ऐसा ही हाल राबर्टसगंज लोकसभा सीट का भी है. यहां से कांग्रेस उम्मीदवार भगवती प्रसाद चौधरी और अपना दल उम्मीदवार पकौड़ी लाल और सपा उम्मीदवार भाई लाल तीनों मिर्जापुर लोकसभा सीट पर वोटर हैं.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव 2019 अब अपने अंतिम दौर की ओर बढ़ रहा है. उत्तर प्रदेश में 2 चरणों का मतदान होना अभी बाकि है, लेकिन यूपी में कई ऐसी सीटें हैं जहां के लोगों को किसी बाहरी नेता को ही अपना प्रतिनिधि चुनना पड़ेगा. अगर बात करें भदोही लोकसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार रमाकांत यादव की तो उनका नाम लालगंज में दर्ज है. जबकि इसी सीट से बीजेपी उम्मीदवार रमेश बिन्द का नाम मिर्जापुर में दर्ज है. ऐसे में भदोही की जनता को बाहरी प्रतिनिधि ही चुनना पड़ेगा. इसी तरह से यूपी में कई ऐसी सीटें हैं जिन पर पार्टियों ने बाहरी को भी उम्मीदवार बनाकर मैदान में उतारा है. एक नजर ऐसी ही सीटों पर...



चन्दौली से कांग्रेस उम्मीदवार और एक दौर में बीएसपी का चेहरा रहे बाबू सिंह कुशवाहा की बेटी शिवकन्या कुशवाहा का नाम बांदा में दर्ज है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और चन्दौली सीट से उम्मीदवार महेन्द्र नाथ पांडे अभी भी वाराणसी के वोटर हैं. इस सीट से एसपी उम्मीदवार संजय चौहान गाजीपुर लोकसभा सीट के वोटर हैं.



केन्द्रीय मंत्री और गाजीपुर से बीजेपी उम्मीदावर मनोज सिन्हा का वोट बलिया लोकसभा में है, गाजीपुर लोकसभा सीट से बीएसपी के उम्मीदवार अफजाल अंसारी और कांग्रेस के उम्मीदवार अजीत कुशवाहा भी बलिया लोकसभा सीट के मतदाता हैं. यानी यहां जो भी चुनाव जीते यहां का मतदाता नहीं होगा.





कुछ ऐसा ही हाल राबर्टसगंज लोकसभा सीट का भी है. यहां से कांग्रेस उम्मीदवार भगवती प्रसाद चौधरी और अपना दल उम्मीदवार पकौड़ी लाल और सपा उम्मीदवार भाई लाल तीनों मिर्जापुर लोकसभा सीट पर वोटर हैं. लालगंज लोकसभा सीट से तीनों मुख्य दलों के उम्मीदवार बाहरी है. बीजेपी की नीलम सोनकर, बीएसपी की संगीता आजाद और कांग्रेस के पंकज मोहन तीनों का नाम आजमगढ़ की वोटर लिस्ट में दर्ज है.
घोषी लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार हरिनारायण राजभर का नाम बलिया लोकसभा सीट में दर्ज है. जबकि इस सीट से बीएसपी उम्मीदवार अतुल राय गाजीपुर लोकसभा सीट के वोटर हैं. बलिया से बीजेपी उम्मीदवार विरेन्द्र सिंह मस्त भदोही के वोटर हैं. जबकि इसी सीट से सपा उम्मीदवार सनातन पांडे घोषी लोकसभा सीट के मतदाता हैं. आंकड़े साफ बता रहे हैं ये दिग्गज जिस इलाके का प्रतिनिधि होने का दावा कर रहे हैं, उस इलाके के ये ना तो नागरिक हैं और ना हीं वोटर.



ये भी पढ़ें- 



लोकसभा चुनाव 2019: अपने को ही वोट नहीं दे पाएंगे ये दिग्गज



भाषण से पहले अखिलेश ने 'बजरंगबली' को मंच पर बुलाया, फिर हाथ जोड़ किया प्रणाम



हेमंत सोरेन का विवादित बयान, झारखंड और केंद्र की BJP सरकार को कहा- नालायक



एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज