• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • UP Lok Sabha Exit Poll Results 2019: यूपी में BJP को 60-62 सीटें, SP-BSP का नहीं चला 'जादू'

UP Lok Sabha Exit Poll Results 2019: यूपी में BJP को 60-62 सीटें, SP-BSP का नहीं चला 'जादू'

एग्जिट पोल २०१९: गौरतलब है कि पिछली बार यूपी की 80 में से बीजेपी और उसके सहयोगी दलों ने 73 सीटों पर जीत हासिल की थी.

  • News18 Uttar Pradesh
  • | May 19, 2019, 23:49 IST
    LAST UPDATED 3 YEARS AGO

    हाइलाइट्स

    20:22 (IST)

    7वें चरण में यूपी की 80 में से बीजेपी को 60-62, गठबंधन-17-19, कांग्रेस-02. कुल- 336/542

    20:02 (IST)

    7वें चरण में यूपी की 80 में से बीजेपी को 60-62, गठबंधन-17-19, कांग्रेस-02. कुल- 336/542

    19:49 (IST)

    छठे चरण में यूपी की 67 में से बीजेपी को 50-54, गठबंधन-11-15, कांग्रेस-02

    19:42 (IST)

    EXit Poll Results में BJP-Led NDA बहुमत की ओर अग्रसर: IPSOS

    19:34 (IST)

    पांचवें चरण की 53 सीटों में से बीजेपी को 42-48

    19:26 (IST)

    यूपी में चौथे चरण के बाद 39/80 में से एनडीए को 25-29, गठबंधन-10-14, कांग्रेस-00

    19:02 (IST)

    यूपी में पहले तीन चरणों की 28/80 सीटों में से बीजेपी को 14-16 सीटें, कांग्रेस-0, गठबंधन-10-12

    19:00 (IST)

    पहले दो चरण में प्रियंका गांधी फैक्टर काम करता नहीं दिख रहा. यूपी में गठबंधन और बीजेपी के बीच ही टक्कर 

    लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान आज शाम खत्म हो चुका है. अब सबकी निगाहें एग्जिट पोल २०१९ (Exit Poll 2019) पर टिकी हैं. न्यूज18 सबसे बड़े सैंपल साइज के साथ सबसे सटीक एग्जिट पोल दिखाया. एग्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए की सरकार पूर्ण बहुमत के साथ आ रही है. यूपी की 80 में से बीजेपी को 60-62, गठबंधन-17-19, कांग्रेस-02 मिलेंगी. देशी की 542 सीटों में से बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए को 336 सीटें हासिल होने का अनुमान है.

    गौरतलब है कि पिछली बार यूपी की 80 में से बीजेपी और उसके सहयोगी दलों ने 73 सीटों पर जीत हासिल की थी. इस बार भी मोदी के चेहरे और केंद्र व योगी सरकार की विकास कार्यों के साथ चुनाव लड़ रही बीजेपी का दावा है कि वह इस बार 74 का आंकड़ा पार कर जाएगी. हालांकि, इस बार सूबे में बीजेपी को सपा बसपा गठबंधन से कड़ी टक्कर मिल रही है.

    गेस्ट हाउस कांड की ढाई दशक पुरानी दुश्मनी को भुलाकर सपा-बसपा इस बार एक साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं. सपा-बसपा का दावा है कि जातीय अंकगणित उनके पक्ष में है और इस बार वे बीजेपी को हाशिए पर ले आएंगे. बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का कहना है कि इस बार देश को नया प्रधानमंत्री मिलेगा.

    हालांकि, इस बात का फैसला 23 मई को होगा जब वोटों की गिनती शुरू होगी, लेकिन विपक्ष जोड़-तोड़ करने में जुट गया है. इस क्रम में शनिवार को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू भी लखनऊ पहुंचे थे. उन्होंने अखिलेश और मायावती से मुलाकात भी की. इसके साथ ही दोनों नेताओं को 23 मई को सोनिया गांधी द्वारा बुलाई गई विपक्ष की बैठक में शामिल होने का न्योता भी दिया.
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन