Home /News /uttar-pradesh /

NDA में टूट! पूर्वांचल की दर्जन भर सीट पर अपना दल का प्रभाव, पटेल निर्णायक भूमिका में

NDA में टूट! पूर्वांचल की दर्जन भर सीट पर अपना दल का प्रभाव, पटेल निर्णायक भूमिका में

अपना दल संरक्षक अनुप्रिया पटेल की फाइल फोटो

अपना दल संरक्षक अनुप्रिया पटेल की फाइल फोटो

अगर यूपी में अपना दल एनडीए से अलग हुआ तो पहले से ही सपा-बसपा गठबंधन की चुनौती झेल रही बीजेपी के लिए एक बड़ा झटका होगा.

उत्तर प्रदेश में एनडीए की प्रमुख सहयोगी दलों में से एक अपना दल (सोनेलाल) ने अलग होने के संकेत दे दिए हैं. अपना दल की नेता और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अनुप्रिया पटेल ने बग़ावती तेवर अख्तियार कर लिया है. उन्होंने कहा कि सीट शेयरिंग को लेकर स्थिति स्पष्ट करने के लिए बीजेपी को 20 फ़रवरी तक का समय दिया था, लेकिन ऐसा लगता है कि उसे अपने सहयोगियों से कोई लेना देना नहीं है. ऐसे में अपना दल स्वतंत्र है और अब हम कुछ भी फैसले ले सकते हैं.

अनुप्रिया पटेल ने की प्रियंका गांधी से मुलाकात, NDA छोड़ जा सकती हैं कांग्रेस के साथ

इस बीच सूचना मिली है कि अनुप्रिया पटेल और अपना दल के अध्यक्ष आशीष पटेल ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से नई दिल्ली में मुलाकात की है. इस मुलाकात के दौरान गठबंधन को लेकर भी चर्चा हुई है. अगर यूपी में अपना दल एनडीए से अलग हुआ तो पहले से ही सपा-बसपा गठबंधन की चुनौती झेल रही बीजेपी के लिए एक बड़ा झटका होगा. इसकी एक वजह यह है कि पूर्वांचल की करीब दर्जन भर सीटों पर अपना दल परम्परागत वोटर निर्णायक भूमिका में हैं. इसमें से एक सीट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी है.

NDA में मचा घमासान, अनुप्रिया पटेल ने अलग चुनाव लड़ने के दिए संकेत

यूपी के जातीय ब्लू प्रिंट पर नजर डालें तो पूर्वांचल और सेंट्रल यूपी के करीब 32 विधानसभा सीटें और आठ लोकसभा सीटें ऐसी हैं, जिन पर कुर्मी, पटेल, वर्मा और कटियार मतदाता चुनाव में निर्णयाक भूमिका निभाते हैं. पूर्वांचल के कम से कम 16 जिलों में कहीं 8 तो कहीं 12 फ़ीसदी तक कुर्मी वोटर राजनीतिक समीकरण बदलने की हैसियत रखते हैं.

इन सीटों पर है दबदबा

अपना दल का वाराणसी, मिर्जापुर, भदोही, इलाहाबाद, फूलपुर, चंदौली, प्रतापगढ़ और कौशाम्बी में खासी पकड़ मानी जाती है. अगर अपना दल अलग राह अख्तियार करती है तो बीजेपी के सामने चुनौती और बड़ी होगी.

2014 में दो सीटों पर अपना दल जीता था

2014 में अपना दल ने बीजेपी के साथ गठबंधन किया था और दो सीटों- मिर्जापुर और प्रतापगढ़ पर चुनाव लड़ा था. मिर्जापुर से अनुप्रिया पटेल जीती थीं और प्रतापगढ़ से कुंवर हरिवंश सिंह संसद पहुंचे थे. कहा जा रहा है कि इस बार अपना दल ने 10 सीटों की मांग की थी. इसमें फूलपुर, प्रयागराज समेत कई महत्वपूर्ण सीट शामिल है.

यूपी: NDA में टूट पूर्वांचल में प्रियंका गांधी के लिए किसी तोहफे से कम नहीं!

उधर अपना दल के अलग होने की ख़बरों का खंडन करते हुए बीजेपी एमएलसी और महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने कहा कि यूपी में गठबंधन एकजुट है. जो भी नाराजगी है उसे दूर कर लिया जाएगा.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

ये भी पढ़ें:

UP में गठबंधन के सीटों का ऐलान, इन सीटों पर मिलकर चुनाव लड़ेंगे सपा-बसपा

It's Official: सपा-बसपा गठबंधन से कांग्रेस बाहर, सिर्फ सम्मान में मिलीं रायबरेली, अमेठी सीटें

Tags: Anupriya Patel, BJP, Lok Sabha Election 2019, Lucknow news, Up news in hindi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर