राजनाथ सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए इस शर्त पर तैयार हुए जितिन प्रसाद!

कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद की फाइल फोटो
कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद की फाइल फोटो

Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस पार्टी ने जितिन प्रसाद को इसी शर्त पर तैयार किया है कि अगर परिणाम अनुकूल नहीं रहे तो उन्हें बिहार से राज्यसभा भेजा जाएगा.

  • Share this:
पिछले दिनों मीडिया में खबर आई कि पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के युवा चेहरे जितिन प्रसाद अपनी सीट बदलने को लेकर पार्टी से नाराज चल रहे हैं. अटकलें यहां तक थीं कि बात न मानने पर वह बीजेपी में भी शामिल हो सकते हैं. हालांकि, जितिन ने सभी अटकलों को काल्पनिक बताया था. अब खबर है कि जितिन प्रसाद पार्टी हाईकमान की बात पर राजी हो गए हैं और वह लखनऊ से गृहमंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे.

दरअसल, पूरा विवाद तब शुरू हुआ, जब कांग्रेस ने अपनी पहली लिस्ट में जितिन प्रसाद को धौरहरा सीट से प्रत्याशी बनाया था. जितिन प्रसाद ने वर्ष 2004 में शाहजहांपुर से चुनाव जीता था. इसके बाद यह सीट सुरक्षित हो गई तो उन्होंने 2009 में धौरहरा से चुनाव लड़ा और जीता. लेकिन 2014 की मोदी लहर में जितिन प्रसाद को बीजेपी की रेखा वर्मा के हाथों हार का सामना करना पड़ा.

इस बार जितिन प्रसाद ने इस सीट पर काफी मेहनत की थी. लेकिन ऐन वक्त पर कांग्रेस ने उन्हें लखनऊ से चुनाव लड़ने को कहा. लखनऊ सीट बीजेपी का मजबूत किला है और यहां से राजनाथ सिंह को चुनौती देना आसान नहीं होगा. यह बात जितिन प्रसाद को भी पता है. उनके लिए लखनऊ से ज्यादा आसान सीट धौरहरा है.



हालांकि पार्टी ने एक रणनीति के तहत जितिन को लखनऊ से मैदान में उतारने का मन बनाया है. दरअसल लखनऊ में ब्राह्मण मतदाताओं की संख्या अच्छी खासी है. जितिन को ब्राह्मण चेहरा बनाकर वह पूरे प्रदेश में संदेश देना चाहती है. हालांकि अभी पार्टी ने उनके लखनऊ से चुनाव लड़ने की आधिकारिक घोषणा नहीं की है, लेकिन जानकारों का कहना है कि वह सूबे के ब्राह्मणों को जितिन के जरिए रिझाना चाहती है.
अगर हारे तो बिहार से जाएंगे राज्यसभा

अब पार्टी ने जितिन प्रसाद को इसी शर्त पर तैयार किया है कि अगर परिणाम अनुकूल नहीं आए तो उन्हें बिहार से राज्यसभा भेजा जाएगा. बिहार में मिलकर चुनाव लड़ रहे कांग्रेस, राजद समेत सभी दलों ने राज्यसभा की एक सीट कांग्रेस को देने की बात कही है.

28 को लखनऊ पहुंचेंगे जितिन प्रसाद

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि जितिन प्रसाद 28 मार्च को ट्रेन से लखनऊ पहुंचेंगे. स्टेशन पर उनका भव्य स्वागत किया जाएगा. इसके बाद जुलूस की शक्ल में उनका काफिला कांग्रेस मुख्यालय पहुंचेगा. इसके लिए प्रशासन से अनुमति की प्रक्रिया पूरी की जा रही है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

ये भी पढ़ें: 

पूर्वांचल में चौहान और निषाद बिरादरी को साधने में जुटे अखिलेश, छोड़ सकते हैं दो सीट

मोदी की सुनामी के आगे सारे विपक्षी दगी कारतूस की तरह होंगे फुस्स: साक्षी महाराज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज